जयसमंद अभयारण्य / पांच साल में 18 से 32 हुए चीतल, तीन साल में सात सांभर बढ़े

X

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

उदयपुर. जयसमंद अभयारण्य में चीतल और सांभर काे लेकर सुखद जानकारी आई है। यहां पिछले वर्ष की गणना के अनुसार पांच साल में चीतल 18 से 32 औप तीन साल में इन दिनाें सांभर 23 से करीब 30 तक देखे हैं। 5 जून काे हाेने वाली वन्यजीव गणना में सही संख्या स्पष्ट हाेगी। मुख्य वन संरक्षक राहुल भटनागर ने बताया कि इस क्षेत्र में सांभर और चीतल पूरी तरह से समाप्त हो गए। केवल कुछ चिंकारा और नीलगाय बचे थे। इन स्थितियों में दाेनाें के पुनर्वास के लिए पहल की गई। इन दिनाें 15-16 के झुंड में सांभर देखे गए है। गत वर्ष के अनुसार चीतल भी दाे गुना ज्यादा है।  
इस तरह हुआ 18 चीतल और 23 सांभर का पुनर्वास : राहुल भटनागर ने बताया कि 2014 में 18 चीतल और वर्ष 2017-2019 में 23 सांभर अभयारण्य में पुनर्वास के लिए मुक्त किए। इसमें 2 सितंबर 2014 को शिकाराबाड़ी मिनी चिड़ियाघर से 18 चीतल (10 नर और 8 मादा), 30 अप्रैल 2017 से 7 मई 2017 तक के बैच में 5 सांभर (2 नर और 3 मादा) को दिल्ली गोल्फ कोर्स से, 10 सांभर (3 नर और 7 मादा) को 11 मई 2019 को और 8 सांभर (3 नर और 5 मादा) को 18 मई 2019 को दिल्ली चिड़ियाघर से अभयारण्य में लाया। डिमड़ा बाग पुनर्वास केंद्र में 21 दिन रखने के बाद जंगल में छोड़ा गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना