फतहसागर की पाल पर नहीं होंगे कार्यक्रम:कलेक्टर बोले- जी-20 समिट को ध्यान में रखते हुए स्मार्ट सिटी के काम पूरे करे

उदयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में यातायात व्यवस्था से जुड़े कई निर्णय लिए गए। - Dainik Bhaskar
जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में यातायात व्यवस्था से जुड़े कई निर्णय लिए गए।

उदयपुर में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में यातायात व्यवस्था से जुड़े कई निर्णय लिए गए। बैठक में शुक्रवार को जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा ने यूआईटी सचिव नितेंद्र पाल सिंह को निर्देश दिए कि फतहसागर की पाल पर अब किसी को कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं दी जाए। झील किनारे विकल्प के रूप में रानी रोड की तरफ कार्यक्रम करने की अनुमति दी जाए।

जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा ने शनिवार और रविवार को फतहसागर पर नो व्हीकल जोन करने व फतहसागर पर मौजूदा बोटिंग स्टैंड को शिफ्ट करने की संभावना तलाशने के निर्देश भी दिए। कलेक्टर ने बड़ी तालाब की पाल का सौंदर्यीकरण करने व वॉल सिटी में येलो लाइन मार्किंग के निर्देश भी दिए। कलेक्टर ने शहरी सड़कों की मरम्मत का काम तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अगले माह प्रस्तावित जी 20 समिट को ध्यान में रखते हुए स्मार्ट सिटी के काम पूरे कर लिए जाए। शहरी सौंदर्यीकरण पर भी ध्यान दिया जाए।

गति सीमा के साइन बोर्ड लगाने, वॉल सिटी में ई-रिक्शा चलाने, सिटी बस संचालन को लेकर भी चर्चा हुई। हाइवे पर आवारा पशुओं के कारण दुर्घटनाओं को रोकने टोल नाका संचालकों को पाबंद करने के निर्देश दिए। बैठक में एडीएम सिटी प्रभा गौतम, स्मार्ट सिटी सीईओ प्रदीप सिंह सांगावत, आरटीओ पीएल बामनिया, टीडीओ कल्पना शर्मा, यूआईटी के एसीई संजीव शर्मा, एसई पीडब्ल्यूडी अशोक शर्मा, निगम एसई मुकेश पुजारी, यूआईटी एक्सईएन नीरज माथुर, ट्रैफिक डिप्टी कुशाल चौर्डिया, पीडी एनएचआई लोकेश सिंह राजपुरोहित, बीएल कोठारी सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।