कांग्रेस के नए फार्मूला 10 स्टेट का भविष्य तय करेंगे:चिंतन शिविर के दो दिन सबसे अहम, कल निर्णयों पर लगेगी मुहर

उदयपुर9 दिन पहले

उदयपुर में कांग्रेस के चिंतन शिविर में शनिवार का दिन सबसे अहम होगा। कल होने वाले फैसले आगामी 10 स्टेट के लिए कांग्रेस का भविष्य तय करेंगे। इस चिंतन शिविर के जरिए पार्टी टॉप टू बॉटम बड़े बदलाव करने जा रही है। इन्हें लागू करने से पहले शनिवार को पूरे दिन कांग्रेस खुद से जुड़े महत्वपूर्ण मसलों पर मंथन करेगी। सुबह 10.30 बजे से ग्रुप डिस्कशन शुरू हो चुका है जो दोपहर तक चलेगा। लंच ब्रेक के बाद एक बार फिर यह डिस्क्शन होगा जो शाम 7.30 बजे खत्म होगा। इसमें कांग्रेस की सभी 6 कमेटियां अपने-अपने मसलों पर मंथन करेगी। दूसरा दिन इसलिए सबसे महत्वपूर्ण है क्योंकि शनिवार को शाम 8 बजे कांग्रेसी की बनाई 6 कमेटियों के कंवीनर्स की महत्वपूर्ण बैठक होगी। इस बैठक में दो दिन के मंथन के बाद 6 अलग-अलग मसलों पर हुई बातचीत और मंथन का निचोर प्रस्तुत किया जाएगा। इस बैठक में दो दिन के मंथन को लेकर फाइनल रिपोटर्स तैयार की जाएंगी।
दरअसल, पिछले कुछ साल में लगातार चुनाव हार रही कांग्रेस का फोकस अब दाे साल के भीतर होने वाले 10 राज्यों के विधानसभा चुनाव और 2024 के लोकसभा चुनाव पर है। ऐसे में उसी को ध्यान में रखते हुए पार्टी संगठन और अपनी नीतियों में आवश्यक बदलाव कर सकती है। रणदीप सुरजेवाला ने भी दो दिन पहले यह स्वीकारा था कि कांग्रेस कई मामलों में पीछे रह गई है और उसकी कुछ खामियां हैं जिन्हें सुधारने की जरुरत है। ऐसे में यह स्पष्ट है कि इस चिंतन शिविर के बाद कांग्रेस में कई बड़े बदलाव देखे जा सकते हैं।
सीडब्ल्यूसी लागू करेगी नए फार्मूला
इस बैठक में तैयार की गई रिपोर्टस को लेकर ही 15 मई को तीसरे दिन सीडब्ल्यूसी की बैठक होगी। इस बैठक में दो दिन के चिंतन के बाद तैयार की गई फाइनल रिपोटर्स के आधार पर अहम निर्णय लिए जाएंगे। कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य इन अहम निर्णयों पर मुहर लगाएंगे। उसके बाद प्रस्ताव पारित कर उन्हें लागू किया जाएगा। तीन दिन के चिंतन शिविर में पहले दिन का आधा हिस्सा जहां कांग्रेसी नेताओं के स्वागत में निकला। वहीं उसके बाद सोनिया गांधी की स्पीच और स्वागत भाषण भी हुए। दूसरे हिस्से में जरुर डेलीगेट्स ने अपने दिए मुद्दों पर बातचीत कर अपना-अपना पक्ष रखा। इनमें हर कमेटी से 70 से 75 नेताओं ने खेती-किसानी, सोशल एम्पावरमेंट, यूथ एंड एंपावरमेंट, आर्थिक, राजनीतिक और संगठनात्मक पहलुओं को लेकर बनाई गई कमेटियों में चर्चा की।

कई चौंकाने वाले अहम निर्णय होंगे
चिंतन शिविर में हुए मंथन के आधार पर कांग्रेस कई अहम और चौंकाने वाले निर्णय लेगी। पहले दिन ही अजय माकन ने एक परिवार से एक ही व्यक्ति को टिकट देने सम्बंधी बदलाव करने की बात कही। वहीं सोनिया गांधी ने भी सीनियर नेताओं से कहा कि पार्टी ने आपको बहुत कुछ दिया है और अब उसका कर्ज उतारने का समय है। ऐसे में स्पष्ट है कि शिविर के बाद कुछ ऐसे कड़े निर्णय लिए जाएंगे जो कांग्रेस की दिशा और दशा को बदल सकते हैं।