पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उदयपुर में कोरोना का विस्फोट:गुरुवार को अब तक के सबसे अधिक 497 संक्रमित आए सामने, अब तक 140 की मौत

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उदयपुर की फतेहसागर पाल पर कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करते शहरवासी। - Dainik Bhaskar
उदयपुर की फतेहसागर पाल पर कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करते शहरवासी।

लेकसिटी उदयपुर में कोरोना संक्रमण आम जनता के लिए परेशानी बढ़ाता जा रहा है। गुरुवार को उदयपुर में कोरोना वायरस से ग्रसित 497 संक्रमित मरीज सामने आए हैं। जो उदयपुर में कोरोना काल के इतिहास के अब तक के सबसे अधिक है। जिसके बाद उदयपुर में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 15 हजार 288 पर पहुंच गई है। वही उदयपुर में कोरोना से अब तक 140 मरीजों की मौत हो चुकी है।

आफत लेकर आया अप्रैल

उदयपुर में अप्रैल महीना शुरू होते ही कोरोना संक्रमित मरीजों का ग्राफ दिनों दिन बढ़ रहा है। 1 अप्रैल को उदयपुर में 123 संक्रमित सामने आए थे, जो बढ़कर 2 अप्रैल को 136, 3 अप्रैल को 128, 4 अप्रैल को 137, 5 अप्रैल को 198, 6 अप्रैल को 367, 7 अप्रैल को 410 और अब यह आंकड़ा बढ़कर 8 अप्रैल को 497 पर पहुंच गया है।

बढ़ा मरीजों का औसत आंकड़ा

इसके बाद उदयपुर में प्रतिदिन संक्रमित मरीजों का औसत भी बढ़कर 250 के आंकड़े पर आ गया है, जो अब तक का सबसे अधिक है। इससे पहले उदयपुर में फरवरी महीने में कोरोना से ग्रसित मरीजों का औसत घटकर 9 पर पहुंच गया था, लेकिन मार्च महीने के समाप्ति के साथ ही कोरोना संक्रमित मरीजों के ग्राफ में इजाफा हुआ, जिसके बाद अप्रैल में स्थिति बेकाबू जैसी हो गई है।

अब होगी और अधिक सख्ती

उदयपुर में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस के बाद अब जिला प्रशासन द्वारा और अधिक सख्ती लागू करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। उदयपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी दिनेश खराड़ी की सिफारिश पर उदयपुर कलेक्टर ने सरकार से उदयपुर में लगातार बढ़ते संक्रमण में आम जनता को दी जाने वाली रियायत में कटौती करने की अनुमति मांगी है। जिसको लेकर अब सरकार के आदेश के बाद उदयपुर में कोरोना गाइडलाइन और अधिक सख्त की जाएंगी।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

और पढ़ें