कन्हैयालाल हत्याकांड:अमित शाह और NIA चीफ के बीच अहम बैठक; परिवार से मिलीं पूर्व CM राजे

उदयपुर3 महीने पहले
उदयपुर हत्याकांड के विरोध में हिंदू समाज ने सीकर में मौन जुलूस निकाला।

कन्हैयालाल हत्याकांड की जांच अपने हाथ में लेने के कुछ दिनों के बाद NIA चीफ दिनकर गुप्ता और गृह मंत्री अमित शाह के बीच अहम बैठक हुई है। समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक यह मीटिंग अमित शाह के दफ्तर में हुई है। माना जा रहा है कि इस बैठक में कन्हैयालाल हत्याकांड की जांच से जुड़े बिंदुओं पर चर्चा हुई है।

कन्हैयालाल हत्याकांड के 6 दिन बाद सोमवार को उदयपुर शहर पूरी तरह खुल गया। प्रशासन ने उदयपुर में सुबह 8 बजे से रात 8 बजे यानी 12 घंटे तक कर्फ्यू में ढील दी है, वहीं 136 घंटे बाद इंटरनेट फिर शुरू हो गया है।

पूर्व CM वसुंधरा राजे सोमवार रात कन्हैयालाल साहू के घर पहुंची। कन्हैया की पत्नी और बेटों से मुलाकात की। राजे ने उन्हें हर संभव मदद दिलवाने का आश्वासन दिया। इससे पहले केंद्रीय मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत ने कन्हैयालाल के परिजनों से मुलाकात करने पहुंचे। शेखावत ने उनके बेटे और पत्नी से मिलकर सांत्वना दी। इस दौरान केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने पूरे हत्याकांड मामले का जिम्मेदार राज्य सरकार और पुलिस को बताया।

गजेंद्रसिंह शेखावत ने कहा कि कन्हैयालाल की हत्या के बाद भले ही पुलिस ने आरोपियों को पकड़ लिया हो, लेकिन सिर्फ आरोपियों को पकड़ कर पुलिस अपना पल्ला नहीं झाड़ सकती। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया भी कन्हैया के परिवार से मिलने जाएंगे।

गजेंद्र सिंह शेखावत ने कन्हैयालाल की पत्नी और बेटे से मुलाकात की।
गजेंद्र सिंह शेखावत ने कन्हैयालाल की पत्नी और बेटे से मुलाकात की।

वहीं, सीकर में सोमवार सुबह लोगों ने मौन जुलूस निकाला। लोहार्गल धाम के महंत अवधेशाचार्य, रेवासा के जानकीनाथ मंदिर महंत राघवचार्य और सांसद सुमेधानंद सरस्वती सहित भारी संख्या में लोग इस जुलूस में शामिल हुए। इस दौरान पुलिस ने ड्रोन से निगरानी की।

सीकर में हिंदू संगठनों ने मौन जुलूस निकाला। यहां दोपहर तक इंटरनेट बंद कर दिया गया है।
सीकर में हिंदू संगठनों ने मौन जुलूस निकाला। यहां दोपहर तक इंटरनेट बंद कर दिया गया है।

कन्हैयालाल हत्याकांड से जुड़े मुख्य आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के बाद घटनाक्रम से जुड़े सहयोगियों पर अब जांच एजेंसियों की नजर है। NIA के साथ-साथ राजस्थान पुलिस की SIT और ATS भी अपनी जांच कर रही हैं। बताया जा रहा है कि SIT ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर ली है, जिन लोगों को डिटेन किया गया है, उनमें से कुछ की गिरफ्तारी भी संभव है।

सुप्रिया बोलीं- राजस्थान में 'गोधरा कांड' होने से बचा लिया
कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने गहलोत सरकार की तारीफ करते हुए कहा- उदयपुर हत्याकांड के बाद जिस तरह से एक्शन लिया, उससे राजस्थान ने एक गोधरा होने से बचा लिया। जो मोदी 2002 में नहीं बचा पाए थे। उन्होंने बीजेपी पर राहुल गांधी के खिलाफ दुष्प्रचार करने के आरोप लगाए। राहुल गांधी के वायनाड कार्यालय में तोड़फोड़ को लेकर दिए बयान का वीडियो उदयपुर हिंसा से जोड़कर सोशल मीडिया पर पोस्ट करने पर उन्होंने जयपुर ग्रामीण सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ पर हमला बोला।

दिनेश एमएन लौटे जयपुर
हत्याकांड की रात से ही उदयपुर में तैनात रहे एंटी करप्शन ADG दिनेश एमएन रविवार को जयपुर लौट गए। इससे पहले उन्होंने कहा कि उदयपुर में कहीं स्लीपर सेल तो एक्टिव नहीं है, इसे लेकर पुलिस अलग से जांच करेगी। इसके अलावा रविवार तक उदयपुर में काफी कुछ शांत हो गया। अब उदयपुर पुलिस और प्रशासन का फोकस उदयपुर में शांति बनाए रखने पर है।

BJP कनेक्शन को लेकर हुई राजनीति
इससे पहले रविवार को उदयपुर में कर्फ्यू में ढील दी गई। हालांकि इंटरनेट पूरी तरह बंद रहा। वहीं रविवार को भी एजेंसियों की जांच जारी रही। रविवार को उदयपुर में कर्फ्यू खुलने के बाद हालात सामान्य रहे। इधर हत्यारे मोहम्मद रियाज के BJP कनेक्शन को लेकर भी काफी राजनीति रविवार को उदयपुर में देखने को मिली।

कहैन्यलाल हत्याकांड के विरोध में सीकर शहर में सोमवार को मौन जुलूस निकाला जाएगा। जुलूस रामलीला मैदान से शुरू होकर सूरजपोल गेट, जाट बाजार होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचेगा।
कहैन्यलाल हत्याकांड के विरोध में सीकर शहर में सोमवार को मौन जुलूस निकाला जाएगा। जुलूस रामलीला मैदान से शुरू होकर सूरजपोल गेट, जाट बाजार होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचेगा।

उधर, सीकर में हिंदूवादी संगठनों व व्यापारियों के आह्वान पर आज मौन जुलूस निकाला जाएगा। इसके मद्देनजर शहरी एरिया में रविवार शाम 6 बजे से आज दोपहर 2 बजे तक इंटरनेट सेवाएं बंद की गई हैं। बूंदी में भी आज बाजार बंद रहेगा।

इन 3 अफसरों ने उदयपुर को जलने से बचाया:कन्हैया के मामा से रिश्ता था; मस्जिद में भीड़ नहीं जुटने दी, पढ़िए इनसाइड स्टोरी

कन्हैया का हत्यारा रियाज था BJP मेंबर:लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी की सदस्यता ली, पढ़िए पार्टी से जुड़ने के चार सबूत