पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Darshan In Shreeji Closed From Tomorrow To November 1, If It Opens, Everyone Except The Local Will Get Rs 50 Or 350. I Will Have To Register

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नाथद्वारा मंदिर:श्रीजी में कल से 1 नवंबर तक दर्शन बंद, खुलेंगे तो स्थानीय को छोड़ बाकी सभी को 50 या 350 रु. में कराना होगा रजिस्ट्रेशन

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्रद्धालुओं काे दर्शन के लिए nathdwaratample.org वेबसाइट पर करवानी होगी बुकिंग
  • अक्टूबर में शुरू हुए थे दर्शन, अब मंदिर में कई बदलाव
  • आपकाे जानना जरूरी है: दर्शन के लिए पंजीयन की भी अब दाे कैटेगरी, पहली निशुल्क दूसरी सशुल्क

काेराेनाकाल श्रीनाथजी मंदिर की दर्शन व्यवस्था में कई बदलाव लाया है। 1 नवंबर के बाद यहां दर्शन के लिए देशभर के वैष्णवाें काे 350 या 50 रुपए चुकाकर पंजीयन करवाना हाेगा। हालांकि एक बार पंजीयन करवा लेने पर अगली बार वापस पंजीयन नहीं करवाना पड़ेगा। बाद में सिर्फ दर्शन के लिए निशुल्क बुकिंग हाेती रहेगी। पंजीयन के बाद दर्शन में आपकी जगह ट्रेन में रिजर्वेशन की तर्ज पर पक्की हाेगी।

अगर पहले से ज्यादा दर्शनार्थी हुए ताे आपकाे दर्शन के लिए नई तारीख चुननी हाेगी। बुकिंग करवाने पर क्यूआर काेड या नंबर मिलेगा, जिसे देखकर मंदिर में प्रवेश देंगे। नाथद्वारा नगरपालिका क्षेत्र में रहने वालाें तथा शहर के पिनकाेड नंबर 313301 वाले आसपास के 11 गांवाें के श्रद्धालुओं के लिए पंजीयन और दर्शन निशुल्क रहेगा।

इनके लिए पंजीयन भी पहले की तरह ऑफलाइन रखा है। इनके अलावा देशभर के वैष्णव सशुल्क पंजीयन की श्रेणी में आएंगे। काेराेनाकाल के 210 दिन बाद 19 अक्टूबर काे ट्रायल पर शुरू हुए दर्शन मंगलवार शाम काे बंद हाे जाएंगे। 31 अक्टूबर तक दर्शन बंद रखने की बात कही जा रही है। हालांकि मंदिर वापस खुलने की तारीख अभी तय नहीं की है, लेकिन इतना पक्का है कि 1 नवंबर या इसके बाद नए बदलावाें के अनुसार ही दर्शन खुलेंगे। तारीख एक-दाे दिन में तय हाेने की उम्मीद जताई जा रही है। एक बार पंजीयन करवा लेने पर दर्शन के लिए कभी भी बुकिंग हाे सकेगी।

350 रु.- 50 रु. के पंजीयन पर दर्शन में क्या हाेगा फर्क
350 रुपए में पंजीयन : इसे श्रीजी चरण कार्ड नाम दिया है। इसमें बुकिंग करवाने वाले दर्शनार्थी काे श्रीजी की छवि के सम्मुख सबसे आगे पहली कतार में रखा जाएगा। इसे भेंट लाइन की लाइन भी कहते हैं। ये दर्शन पुरानी व्यवस्था में भी हाेते थे। इनमें वे श्रद्धालु लिए जाते हैं, जिनकी भेंट चढ़ाने की इच्छा है।

50 रुपए में पंजीयन
इसके तहत पंजीयन करवाने वाले श्रद्धालुओं की भेंट लाइन के पीछे से लगना शुरू हाेगी। यानी पहली कतार के बाद लगने वाली अंतिम कतार तक में 50 रुपए पंजीयन वाले श्रद्धालुओं काे रखा जाएगा। अभी अधिकांश श्रद्धालु इन्हीं लाइनाें में खड़े हाेकर प्रभु के दर्शन करते हैं।

ई-मेल या एसएमएस से दी जाएगी सूचना पंजीयन करवाने वाले दर्शनार्थी को दर्शन खुलने और उसकी बुकिंग की सूचना ई मेल या फोन पर एसएमएस से दी जाएगी। दर्शन खुलने पर पंजीयन संख्या से दर्शन की बुकिंग की जा सकेगी।

दर्शन में संख्या तय हाेगी
हर दर्शन में दर्शनार्थियाें की संख्या भी निर्धारित की जानी है। 9 दिन तक चले ट्रायल दर्शन में अनुभव के आधार पर दर्शनार्थियाें की संख्या तय होगी। मंदिर प्रशासन जिला प्रशासन के साथ मिल कर व्यवस्था की तैयारी कर रहा है। सूत्रों का कहना है कि 1 घंटे तक खुले रहने वाले दर्शन में करीब 1 हजार दर्शनार्थियाें को प्रवेश की अनुमति मिल सकती है।

सशुल्क दर्शन करने वाले देशभर के श्रद्धालुओं के लिए
नाथद्वारा के स्थानीय लाेगाें काे छाेड़कर देशभर के वैष्णवाें काे दर्शन के लिए सशुल्क पंजीयन करवाना हाेगा। इसके लिए मंदिर मंडल ने nathdwaratemple.org नाम से वेबसाइट बनाई है। इस पर दर्शन के लिए ऑनलाइन बुकिंग शुरू हाे चुकी है। वेबसाइट में जाने पर आपकाे पंजीयन के 350 रुपए में श्रीजी चरण कार्ड तथा 50 रुपए में दर्शन वाले दाे विकल्प मिलेंगे। इनमें से किसी एक विकल्प काे चुनकर पंजीयन करवाना हाेगा।

इसमें आधार कार्ड या पहचान पत्र की जरूरत नहीं हाेगी। आप नेट बैंकिंग या पेटीएम के माध्यम से पैसा चुका सकेंगे। पंजीयन के बाद दर्शन की तारीख चुनने का विकल्प आएगा। बाहर के लाेगाें के लिए बुकिंग रेलवे की तर्ज पर खाली जगह के आधार पर हाेगी। पहले से ज्यादा दर्शनार्थी बुकिंग करवा चुके हाेंगे ताे आपका नंबर नहीं आएगा। फिर अगली तारीख चुननी हाेगी।

मंदिर के भीतर बदलाव : काेराेनाकाल में मंदिर के भीतर कई बदलाव किए हैं। नया प्रवेश द्वार, रेलिंग लगवाने के साथ ही आठ बदलाव हुए हैं। इनमें से कुछ दर्शन व्यवस्था से जुड़े हुए हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें