8 मजदूरों के शव जयपुर से रवाना:बिहार के पूर्णिया में हुए सड़क हादसे में हुई थी मौतें, देर शाम तक पहुंचेगे पैतृक गांव

उदयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतकों के परिजनों से चर्चा करते खेरवाड़ा विधायक। - Dainik Bhaskar
मृतकों के परिजनों से चर्चा करते खेरवाड़ा विधायक।

बिहार के पूर्णिया में सड़क हादसे का शिकार हुए खेरवाड़ा क्षेत्र के 8 मजदूरों के शव बुधवार देर रात तक उदयपुर पहुंचेगे। बिहार पुलिस ने बुधवार सुबह भरतपुर सीमा पर राजस्थान सरकार को शव सुपुर्द किए। वहीं से भरतपुर तहसीलदार और पुलिस जाब्तें के साथ सभी शवों को रवाना किए गए। इसके बाद दोपहर 12 बजे शव जयपुर पहुंचे, जहां खेरवाड़ा विधायक डॉ दयाराम परमार की मौजूदगी में सभी शवों को रवाना किया गया। देर रात तक सभी मृतकों के शव उनके पैतृक गांव पहुँचने की संभावना है।

भरतपुर से अलग-अलग एंबुलेंस में शवों को उनके गांव के लिए रवाना किया गया।
भरतपुर से अलग-अलग एंबुलेंस में शवों को उनके गांव के लिए रवाना किया गया।

दरअसल, 2 दिन पहले बिहार के पूर्णिया जिले में ट्रेलर पलटने से हादसा हुआ था। ट्रेलर में भरे लोहे के पाइप पर सभी मजदूर बैठे थे। जो सिलीगुडी से जम्मू कश्मीर जा रहे थे। हादसे में 8 मजदूरों की मौत हो गई थी और 5 घायल हो गए। हादसे में मारे गए सभी लोग उदयपुर जिले के खेरवाड़ा के पहाड़ा और बावलवाड़ा क्षेत्र के रहने वाले थे। सभी लोग बोरवोल के ट्रेलर पर मजदूरी करते थे।

मृतकों के परिजनों से बात करते खेरवाड़ा विधायक दयाराम परमार।
मृतकों के परिजनों से बात करते खेरवाड़ा विधायक दयाराम परमार।

4 गांवो में छाई शोक की लहर
हादसे में खेरवाडा क्षेत्र के फुटाला, काकन सागवाड़ा, पाछा पाडला ओर निचला तालाब, कानपुर और कतारवास गाँव के 8 मजदूरों हुई। मौत से सभी गांवों मे शोक की लहर है। गांव के लोग मृतकों के परिजनों को ढांढस बंधा रहे हैं और दिनभर ग्रामीण शवों के आने की जानकारी ले रहे हैं।
इनपुट- हितेश जोशी