• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Demand For Amendment In Animal Cruelty Act, Said: Bring Amendment Bill In The Winter Session Of Parliament, Only 50 Rupees Penalty On Cruelty

पुष्पेंद्र मुनि का प्रधानमंत्री को पत्र:पशु क्रूरता अधीनियम में संशोधन की मांग, बोले- संसद के शीतकालीन सत्र में संशोधन बिल लाएं

उदयपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रमण डाॅ. पुष्पेंद्र मुनि। - Dainik Bhaskar
श्रमण डाॅ. पुष्पेंद्र मुनि।

जानवरों पर सामने आ रही क्रूरता को देखते हुए श्रमण डॉ. पुष्पेंद्र मुनि ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। पत्र में डॉ. पुष्पेंद्र ने पशुओं के प्रति कूरता निवारण अधीनियम 1960 में संशोधन की मांग की है। डॉ. श्रमण ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र में इस कानून में संशोधन के लिए अधीनियम लेकर आएं। डॉ. पुष्पेंद्र ने सवाल उठाया कि पशुओं की सुरक्षा के लिए यह कानून लाया गया था। मगर समय के साथ इसमें बदलाव नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि किसी भी पशु को पीटने, उसकी हत्या करने, पशुओं की लड़ाई करवाने सहित पशुओं से जुड़े अपराधों के लिए सिर्फ 50 रुपए सजा है।

प्रधानमंत्री को लिखा पत्र।
प्रधानमंत्री को लिखा पत्र।

उन्होंने कहा कि इसके चलते पशु क्रूरता को नहीं रोक पा रहे हैं। बेहद कम पैनल्टी होने और पशु क्रूरता को चिन्हित भी नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में डॉ. पुष्पेंद्र ने इस शीतकालीन सत्र में कानून के संशोधन का बिल लाने की मांग की है। डॉ. पुष्पेंद्र ने कहा है कि इस बिल में विशेष रूप से पशु क्रूरता करने पर तय की गई अपराध की सजा के तौर पर पैनल्टी को रिवाइज करने का अनुरोध किया गया है। साथ ही इस अधीनियम के सेक्टर 31 में सेक्शन (11)(1)(a) से (11)(1)(0) और सेक्शन 38 को शामिल करने को कहा गया है। जो अधीनियम के तहत अपराधों की संज्ञानता को पहचानता है।

खबरें और भी हैं...