पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Design And Map Of Neemaj Mata Mandir Rapeway Approved, Work Will Start Next Month, Will Be 400 Meters Long, There Will Be 12 Trolleys

पर्यटन के लिए अच्छी खबर:नीमज माता मंदिर राेपवे की डिजाइन और नक्शा मंजूर, अगले माह शुरू होगा काम, 400 मीटर लंबा होगा, 12 ट्रॉलियां होंगी

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2023 में मिलेगा शहर को दूसरा रोपवे

करनी माता रोप-वे के बाद शहर को जल्द ही दूसरे राेप-वे की सौगात मिलने वाली है। नीमज माता मंदिर पहाड़ी पर राेप-वे स्थापित करने के लिए दामाेदर राेप-वे कंपनी द्वारा तैयार की गई स्ट्रक्चर डिजाइन और नक्शे काे पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर से मंजूरी मिल गई है। अब कलेक्टर से राेप-वे कंपनी काे लाइसेंस जारी हाेते ही राेप-वे का काम शुरू हाे सकेगा। यूआईटी महीने भर मेें इस प्राेजेक्ट का काम शुरू करने की तैयारी में है। बता दें कि पहले इस प्रोजेक्ट को 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य था। लेकिन कोरोनाकाल की वजह से प्रोजेक्ट में देरी हो गई।

अब इसके 2023 में पूरा होने की संभावना है।राेप-वे कंपनी द्वारा तैयार डिजाइन काे तकनीकी परीक्षण के लिए लाॅकडाउन से पहले एमएनआईटी, जयपुर काे भेजा गया था। इंजीनियरों की टीम ने इसकाे स्वीकृति मिलने के बाद इसी साल जनवरी में पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर, जयपुर काे डिजाइन भेजी थी। अब इसको वहां से भी मंजूरी मिल गई है। अब कलेक्टर से राेप-वे कंपनी काे लाइसेेंस जारी करने का काम बाकी रह गया है। यह प्रक्रिया पूरी हाेते ही राेप-वे का काम शुरू हाे जाएगा। शहर का यह दूसरा राेप-वे हाेगा।

वर्तमान में दूधतलाई के पास दीनदयाल उपाध्याय पार्क से माछला मगरा पर मंशापूर्ण करणी माता मंदिर तक राेप-वे संचालित हाे रहा है। यहां 6 ट्राॅली वाले राेप-वे की 6 जून 2008 काे शुरुआत हुई थी। अब तक करीब 31 लाख लाेग इस राेप-वे की सैर कर चुके हैं। यूआईटी सचिव अरुण हसीजा ने बताया कि नीमज माता मंदिर राेप-वे प्राेजेक्ट से जुड़ा अहम काम डिजाइन और नक्शे की मंजूरी का था। काेशिश रहेगी कि महीने भर मेें राेप-वे का काम शुरू हाे जाए।

12 ट्राॅलियों में एक बार में 72 लोग कर सकेंगे सफर

इस प्राेजेक्ट के तहत 400 मीटर लंबे राेप-वे के लिए देवाली छोर पर एससीईआरटी की हाॅस्टल बिल्डिंग के पास लाेअर स्टेशन और नीमच माता मंदिर के पीछे पहाड़ी पर अपर स्टेशन बनेगा। 12 ट्राॅली वाले इस राेप-वे में एक बार मेें 72 लाेग सफर कर सकेंगे। प्रत्येक ट्राॅली में एक साथ 6 लाेग बैठ सकेंगे और अनुमान के मुताबिक प्रति घंटा 600 लाेगाें काे राेप-वे से मंदिर तक की सैर करने की सुविधा मिल सकेगी।

खबरें और भी हैं...