पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

दर्शन अनलॉक:5 मीटर की दूरी पर घेरों में खड़े रह कर ही आगे बढ़ रहे भक्त, 6 फीट की दूरी से कर रहे प्रभु के दर्शन

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना संक्रमण के तहत लॉकडाउन के तीन दिन पूर्व 19 मार्च को ही बंद कर दिए गए थे मंदिर के द्वार

कोविड-19 के तहत भले ही देशभर में लॉकडाउन गत 22 मार्च को लागू हुआ था, लेकिन कोरोना संक्रमण के शुरुआती मामले सामने आते ही मेवाड़ के इष्टदेव श्री एकलिंगनाथ जी मंदिर के पट तीन दिन पूर्व 19 मार्च को ही बंद कर दिए गए थे।

सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुरूप 170 दिन बाद 5 सितंबर को मंदिर के पट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोले गए तो व्यवस्थाएं पहले से काफी बदली नजर आईं। श्री एकलिंगनाथ जी मंदिर मंदिर के मुख्य दरवाजे पर थर्मल स्कैनिंग और बाहर सैनिटाइजेशन की व्यवस्था है। मंदिर में नारियल, प्रसाद और फूलमालओं समेत अन्य सभी प्रकार की सामग्री को लाना प्रतिबंधित है। आम

दिनों में जहां 1000 से 1500 श्रद्धालुओं तक आते थे। इनमें गुजरात और बाहरी राज्यों के साथ विदेशी पर्यटकों का आकड़ा 70 फीसदी तक रहता था, जबकि मंदिर खुलने के बाद अब प्रतिदिन औसतन 500 श्रद्धालु दर्शन के लिए आ रहे हैं और श्रद्धालुओं का आंकड़ा प्रतिदनि बढ़ रहा है। ट्रस्ट की ओर से 5 फीट की दूरी पर लाइन में लग कर दर्शन की अनुमति दी गई है।

मेवाड़ के इष्टदेव के मंदिर का इतिहास और महत्व
मेवाड़ के संस्थापक बप्पा रावल ने 8वीं सदी में उदयपुर से 22 किमी दूर इष्टदेव श्री एकलिंगनाथ जी मंदिर की स्थापना की थी। शैव संप्रदाय के इस मंदिर का नागर शैली में मेरू रूपेण स्थापत्य शैली में निर्माण किया गया। बाद में समय-समय पर महाराणा हम्मीर, मोकल, महाराणा कुंभा, महाराणा रायमल आदि ने मंदिर का िवस्तार और जीर्णोद्धार किया।

मेवाड़ के तत्कालीन महाराणा रायमल (1473-1501) ने मंदिर में श्रीएकलिंगनाथ जी की पंचमुखी प्रतिमा की स्थापना और प्राण-प्रतिष्ठा की थी। अपनी स्थापत्यकला और ऐतिहासिक महत्व के यह देसी-विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करता है। यह मंदिर महाराणा ऑफ मेवाड़ चेरिटेबल फाउंडेशन के तहत एकलिंगनाथजी ट्रस्ट के अधीन है। ट्रस्ट व्यवस्थाएं संचालित कर रहा है।

कोरोना के मद्देनजर ट्रस्ट ने पहले ही उठाए थे एहतियाती कदम, भविष्य के लिए भी हैं पूरी तरह तैयार और सतर्क

महाराणा ऑफ मेवाड़ चेरिटेबल फाउंडेशन के तहत एकलिंगनाथ जी ट्रस्ट की ओर से सरकारी गाइडलाइन की पूरी पालना की जा रही है। पूरी एहतियात के साथ श्रद्धालुओं को दर्शन कराए जा रहे हैं। फिलहाल मंदिर के द्वार बंद नहीं किए जाएंगे, लेकिन भविष्य में संक्रमण के मामले बढ़ते हैं तो हम दर्शन प्रतिबंध लगाएंगे।
-गिरिराज सिंह, मीडिया मैनेजर, एकलिंगनाथजी ट्रस्ट

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें