कैसा रहेगा न्यू ईयर सेलिब्रेशन:घर में रात 8 बजे बाद नहीं बजा सकेंगे डीजे; सड़क पर रहेगी नाइट कर्फ्यू की सख्ती, होटल-रिसोर्ट में केवल कमरों में जश्न

उदयपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फतहसागर पाल इन दिनों पर्यटकों से गुलजार है। - Dainik Bhaskar
फतहसागर पाल इन दिनों पर्यटकों से गुलजार है।
  • सरकार-प्रशासन की सख्ती के बीच कैसा रहेगा न्यू ईयर सेलिब्रेशन
  • कहीं नहीं कर सकेंगे आतिशबाजी, ग्रुप डांस और डीजे पर भी रोक

काेराेना काल में साल 2020 की आिखरी रात कई पाबंदियां होंगी। गाइड लाइन के अनुसार प्रशासन तय कर चुका है कि रात 8 बजे शहर में नाइट कर्फ्यू की पालना सख्ती से करवाएंगे और आतिशबाजी तो दूर, कहीं डीजे भी नहीं बजने देंगे।

एडीएम प्रशासन ओपी बुनकर का कहना है कि 31 दिसंबर हो या 1 जनवरी, रात 8 बजे बाद इमरजेंसी सेवाओं के अलावा किसी को भी आने-जाने नहीं देंगे। अगर किसी होटल या रिसोर्ट संचालक ने न्यू ईयर पार्टी की तो महामारी एक्ट सहित आईपीसी की धाराओं में कार्रवाई होगी। नियम तोड़ने पर जुर्माने के साथ तीन साल तक की सजा भी हो सकती है। होटलों में पर्यटक अपने कमरों में न्यू ईयर सेलिब्रेट कर सकेंगे।

घर : 31 दिसंबर हो या 1 जनवरी व अन्य दिन, रात 8 बजे बाद नाइट कर्फ्यू लागू है। ऐसे में रात 8 बजे बाद घरों से बाहर नहीं निकल सकेंगे।
होटल-रिसोर्ट : संचालक न्यू ईयर सेलिब्रेशन के नाम पर भीड़ नहीं जुटा सकेंगे। यानी कमरों में ही सेलिब्रेशन।
सड़क: नाइट कर्फ्यू की पालना तय करने के लिए पुलिस की निगरानी रहेगी। रात 8 से सुबह 6 बजे न कहीं आतिशबाजी कर सकेंगे, न डीजे या हाई-फाई साउंड सिस्टम चल सकेंगे।

सेलिब्रेशन के लिए ये रियायत

  • होटल्स-रिसोर्ट्स में ठहरने वाले पर्यटक अपने-अपने कमरों में अपने-अपने परिवार संग सादगी के साथ रातभर न्यू ईयर सेलिब्रेट कर सकेंगे।
  • लोग अपने-अपने घरों में भी सादगी के साथ रातभर न्यू ईयर सेलिब्रेट कर सकेंगे।

इधर सख्ती के बीच सुकून : रिसोर्ट-हाेटलों में 80% बुकिंग
दीवाली के बाद लेकसिटी अब न्यू ईयर सेलिब्रेशन के चलते 31 दिसंबर से 3 जनवरी तक प्रदेश सहित दिल्ली, गुजरात-महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, हरियाणा सहित अन्य प्रदेशों के देसी पर्यटकों से गुलजार रहेगी। क्रिसमस के चलते गत 24 दिसंबर से ही लेकसिटी में देसी पर्यटकों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। अब न्यू ईयर सेलिब्रेशन के चलते शहर के बाहर स्थित हाेटल्स-रिसोर्ट्स में ऑक्यूपेंसी आम दिनों के मुकाबले दुगुनी बढ़ गई है। ऐसे में कई शहरवासी भी होटल्स और रिसोर्ट में ठहरकर न्यू ईयर सेलिब्रेट करने के लिए कमरे बुक करा रहे हैं। हाेटल संस्थान दक्षिणी राजस्थान के सचिव राकेश चौधरी बताते हैं कि शहर से सटे रिसोर्ट-होटलों में 60 से 70 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी चल रही है।

इससे पहले होटलों में 20 से 30 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी चल रही थी। शहर के बाहर स्थित ज्यादातर बड़े होटल-रिसोर्ट में बुकिंग 80 फीसदी तक हो गई है, जबकि अगले दो-तीन दिन यह आंकड़ा 90 से 100 फीसदी तक रह सकता है। इस बार होटलों में ठहरने वाले पर्यटकों को कमरों में ही रहकर परिवार के साथ न्यू ईयर सेलिब्रेट करना होगा। वहीं ओल्ड सिटी के होटलों की ऑक्यूपेंसी 25 प्रतिशत से बढ़कर 50 प्रतिशत तक पहुंच गई है। उदियापाेल, सूरजपोल की हाेटलाें में भी 30 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी चल रही है।

खबरें और भी हैं...