उग्र होती हड़ताल:रेजीडेंट की हड़ताल से अब इमरजेंसी की सेवाएं भी लड़खड़ाई, गंभीर मरीजों को करना पड़ रहा इंतजार

उदयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इंतजार का दर्द. - Dainik Bhaskar
इंतजार का दर्द.
  • 9वें दिन 249 में से 232 रेजीडेंट डॉक्टर्स हड़ताल पर रहे

नीट पीजी काउंसलिंग-2021 में देरी से नाराज आरएनटी मेडिकल कॉलेज के 249 में से 232 रेजिडेंट डॉक्टर्स 9वें दिन मंगलवार को भी हड़ताल पर रहे। रेजीडेंट की हड़ताल अब उग्र होती जा रही है। मंगलवार को मात्र 14 रेजीडेंट ही अस्पताल पहुंचे। इससे जनाना अस्पताल की आईपीडी सेवाएं बेपटरी हो गई हैं। जनाना अस्पताल के वार्ड-8 के सभी 30 बेड खाली हो गए।

अब जनाना अस्पताल प्रशासन गर्भवती-प्रसूताओं को भर्ती करने से बचता दिखाई दे रहा है। एमबी की सामान्य ओपीडी और सुपर स्पेशियलिटी की ओपीडी में भी चिकित्सा सेवाएं बेपटरी होती जा रही हैं। जब विशेषज्ञ डॉक्टर्स वार्डों में राउंड पर थे, तब गंभीर मरीज स्ट्रेचर पर ओपीडी के बाहर दर्द से जूझ रहे थे। एमबी की सामान्य ओपीडी में फिर से ढाई-ढाई घंटे के लंबे इंतजार के बाद मरीजों को इलाज मिला।

68 एसआर के साथ 225 विशेषज्ञ चिकित्सक व्यवस्थाएं बनाने में जुटे हैं। लेकिन मरीजों को इलाज के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

खबरें और भी हैं...