पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रिजल्ट का फॉर्मूला जारी:पाबंदियों के बीच स्कूल को 2 दिन में बनानी है एग्जामिनेशन कमेटी, बैठक करवाना ही चुनौती

उदयपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीबीएसई 10वीं रिजल्ट फॉर्मूले से असमंजस }शहर के स्कूल संचालकों ने भी प्रक्रिया को जटिल बताया

10वीं कक्षा के एग्जाम रद्द होने के बाद सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने रिजल्ट का फॉर्मूला जारी कर दिया है। इसके तहत स्कूल की ओर से 11 जून से पहले इंटरनल मार्किंग अपलोड करनी है, जबकि 15 जून तक रिजल्ट तैयार होने के बाद 20 जून को इसकी घोषणा हाेगी। इसके लिए एग्जामिनेशन कमेटी में 7 शिक्षक-शिक्षिकाएं होंगे और चेयरपर्सन स्कूल प्रिंसिपल। दाे शिक्षक दूसरे स्कूल, जबकि संबंधित स्कूल के 5 विषय के एक-एक शिक्षक होंगे। कमेटी मिलकर रिजल्ट तैयार करेगी। सहोदय सदस्य और एमडीएस स्कूल के संचालक शैलेंद्र सोमानी का कहना है कि रिजल्ट की प्रक्रिया काफी जटिल है। देश के कई हिस्सों में आवागमन पर पाबंदी की ओर भी बोर्ड ने ध्यान नहीं दिया है। ऐसे में मीटिंग करना और स्कूल में बैठकर तय समय तक रिजल्ट तैयार करना आसान नहीं होगा।

  • प्रदेश सरकार की ओर से 17 मई तक लॉकडाउन जैसी सख्ती है। ऐसे में स्कूल तक कमेटी सदस्यों का पहुंचना, स्कूल खुलना और बैठक के लिए अनुमति बड़ा सवाल है।
  • अगले दो दिनों में यानी 5 मई तक एग्जामिनेशन कमेटी बनानी है, जबकि 20 मई तक मार्क्स अपलोड करने के साथ ही 25 मई तक स्कूल को रिजल्ट भी फाइनल करना है। ऐसे में सीमित तैयारियों और सरकार की पाबंदियों के बीच रिजल्ट तैयार भी चुनौती है।
  • 80 फीसदी परफॉर्मेंस का आधार जुटा पाना मुश्किल है। स्कूल के सामने सबसे पहली चुनौती है डेटाबेस की। सत्र के दौरान हुए ऑनलाइन एग्जाम का डेटा रखने के कोई निर्देश नहीं थे। ऐसे में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।
  • सत्र के दौरान संक्रमित होने या अस्वस्थ होने के चलते एग्जाम नहीं दिया है तो संबंधित स्कूल के पिछले तीन साल में बेस्ट रिजल्ट वाले सत्र को आधार बनाया जाएगा। उसी आधार पर विद्यार्थी का भी औसत रिजल्ट तैयार होगा। ऐसे में 2020-21 सत्र के दौरान किसी विद्यार्थी का प्रदर्शन पिछले सत्र के मुकाबले में सुधार भी हुआ तो इसका फायदा नहीं मिलेगा।
  • ऑफलाइन एग्जाम की तुलना में घर बैठे ऑनलाइन एग्जाम में पारदर्शिता को लेकर भी स्कूल प्रबंधन चिंतित है।
  • विद्यार्थी अगर संतुष्ट नहीं है, तो बोर्ड एक मौका और देगा। इसे प्रोसेस लंबा खींच जाएगा। अगले सत्र का भी फर्क पड़ जाएगा।

कंपार्टमेंट एग्जाम के लिए बोर्ड उपलब्ध कराएगा पेपर

5 से ज्यादा विषयों में मार्किंग के लिए औसत मार्क्स का फॉर्मूला अपनाया जाएगा। पेंटिंग, म्यूजिक जैसे विषयों में मार्क्स के लिए अन्य 3 विषयों को आधार बनाया जाएगा। सबसे ज्यादा अंको वाले 3 विषयों के अंको का औसत निकालकर इन विषयों में मार्किंग की जाएगी। परिणाम घोषित होने के बाद कंपार्टमेंट पेपर के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन एग्जाम पैटर्न अपनाया जा सकेगा। जिसके लिए बोर्ड की ओर से सैंपल पेपर भी उपलब्ध करवाया जाएगा। कंपार्टमेंट पेपर का रिजल्ट घोषित होने तक विद्यार्थी को 11वीं कक्षा के लिए प्रवेश दिया जा सकेगा। वहीं, इस सत्र में रि-चैंकिंग की प्रक्रिया नहीं रहेगी यानी एक बार परिणाम घोषित होने के बाद विद्यार्थी के बाद कोई विकल्प नहीं होगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें