उदयपुर में बरसात से प्राइमरी स्कूल की बिल्डिंग गिरी:कई इलाकों में हुई अच्छी बरसात, फतहसागर 9 इंच खाली

उदयपुर2 महीने पहले
फतहसागर झील का जलस्तर बढ़कर 12.2 फीट पहुंच गया है।

उदयपुर में बरसात का चौथा दौर शुरू हो चुका है। पिछले 24 घंटे में उदयपुर के कई इलाकों में अच्छी बरसात देखने को मिली। इससे एक बार फिर उदयपुर के बाहरी इलाकों में नदियां और नहरें चल पड़ी। वहीं बरसात के चलते कोट़ा में एक प्राथमिक स्कूल का भवन गिर गया। जिस वक्त भवन गिरा उस वक्त स्कूल में बच्चे नहीं थे। ऐसे में किसी को जान का नुकसान नहीं हुआ। हालांकि स्थानीय लोगों का कहना था कि स्कूल में काफी समय से पानी टपक रहा था।

जिस वक्त स्कूल की बिल्डिंग गिरी, उस वक्त स्कूल में कोई नहीं था।
जिस वक्त स्कूल की बिल्डिंग गिरी, उस वक्त स्कूल में कोई नहीं था।

इधर पिछले 24 घंटे में उदयपुर शहर में 10 एमएम बरसात हुई। 24 घंटों में सबसे ज्यादा 50 एमएम बरसात ओगणा में दर्ज की गई। वहीं बागोलिया में भी 41 एमएम पानी बरसा। इसके अलावा सेई डेम में 30 एमएम, झाड़ोल में 23 एमएम, बावलवाड़ा में 15 एमएम और उदयसागर में 10 एमएम बरसात हुई। मदार और नाई में भी 5-5 एमएम बरसात दर्ज की गई। इसके अलावा कई इलाकों में हल्की बरसात दर्ज की गई।

फतहसागर अब महज 9 इंच खाली
मदार बांधों से लगातार हो रही आवक के बाद अब फतहसागर का जलस्तर 12.2 फीट से ज्यादा हो गया है। यह अब महज 9 इंच खाली है। उदयपुर में बरसात का अगला दौर शुरू होने के बाद माना जा रहा है कि यह जल्द छलक सकता है। इसके अलावा पिछले 24 घंटे में उदयसागर का जलस्तर भी बढ़ा है। यह बढ़कर अब 20.1 फीट हो गया है। इसके अलावा आकोदड़ा बांध में भी लगभग 1 फीट पानी आया है। इसका जलस्तर भी बढ़कर 21 फीट के पार हो गया है। अभी भी उदयपुर के कई बांध खाली पड़े हैं।

5 से 7 के बीच भारी बरसात का अनुमान
मौसम विभाग पहले ही 3 अगस्त से मानसून के सक्रिय होने की बात कह चुका था। पिछने 48 घंटों में कई जगहों पर अच्छी बरसात हुई। वहीं मौसम विभाग का अनुमान है कि 5 से 7 अगस्त के बीच उदयपुर में भारी बरसात हो सकती है।

फोटो :शाहीद खान पठान।