पहली बार सरकार भी बेचेगी शराब:ऑनलाइन नीलामी के पहले चरण में 50 ठेके खरीदे; बाकी बचे 1843 ठेकों पर भी बाेली लगाएंगे

उदयपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आरएसबीसीएल और जीएसएम बाकी के 1843 ठेकों पर भी लगाएंगे बाेली

प्रदेश में पहली बार सरकार भी शराब बेचेगी। प्रदेश में पहली बार हाे रही शराब ठेकाें की ऑनलाइन नीलामी में सरकार की संस्था राजस्थान स्टेट बेवरेज कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आरएसबीसीएल) और गंगानगर शुगर मिल (जीएसएम) ने 50 दुकानाें की बाेली लगाई है। अब ये संस्थाएं इन ठेकाें काे चलाएंगी। इतना ही नहीं, प्रदेश के 7,665 ठेकाें में से अब 1843 की नीलामी बाकी है। ये दाेनाें संस्थाएं इसके लिए 17 और 19 मार्च काे हाेने वाली नीलामी में भी शामिल हाेंगी। अगर नीलामी में कुछ दुकानाें की बाेली नहीं लगती ताे ये संस्थाएं उनका भी संचालन करेंगी।

प्रदेश में पहले चरण के तहत 5,822 दुकानाें की नीलामी हाे चुकी है। अधिकारिक सूत्रों की मानें ताे पहले चरण की नीलामी में इन संस्थाओं ने जिन 50 से ज्यादा दुकानों पर बाेली लगाई वे चित्ताैड़गढ़, भीलवाड़ा व जयपुर आदि जिलों की हैं। सरकार की अनुमति के बाद आबकारी विभाग में दुकानों की तय राशि जमा कराई जा रही है। अब विभाग ने आरएसबीसीएल और जीएसएम काे दूसरे चरण की नीलामी में भी भाग लेने के आदेश दिए हैं। आरएसबीसीएल और जीएसएम में लगे कर्मचारियों काे प्रतिनियुक्ति पर लगाया जाएगा।

शुक्रवार काे विभाग की जयपुर में हुई बैठक में नीलामी और दुकानों काे चलाने के तरीकाें पर भी चर्चा हुई। इसके लिए नियम तैयार किए जाएंगे। इससे पहले देश में कर्नाटक, आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु में सरकार की संस्थाएं शराब दुकानों का संचालन करती आई है। उच्चाधिकारियाें ने बताया कि पहले चरण में 5822 दुकानों पर 7 कराेड़ रु. के लक्ष्य से 2500 कराेड़ रु. ज्यादा की बाेली लगी। हनुमानगढ़ की 510 कराेड़ रु.की दुकान सहित अन्य 10 गुणा ज्यादा बाेली की कुछ दुकानों काे छाेड़ दें ताे शुक्रवार शाम तक 95 प्रतिशत दुकानों की तय राशि ठेकेदारों ने जमा करा दी।

आरएसबीसीएल और जीएसएम ने प्रथम चरण में कुछ दुकानों पर नीलामी में भाग लिया था और दूसरे चरण में जाे भी दुकानें वंचित रह जाएंगी उनका संचालन भी इन्हीं संस्थाओं से कराने की तैयारी चल रही है।
-छाेगाराम देवासी, अतिरिक्त आयुक्त, आबकारी विभाग।

खबरें और भी हैं...