पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Governor's Representative Said Asst. It Is Wrong To Sack Director Patel And Chaudhary, The Vice chancellor Does Not Have This Right

विवादों का सुखाड़िया विश्वविद्यालय:राज्यपाल के प्रतिनिधि ने कहा- असि. डायरेक्टर पटेल और चौधरी को बर्खास्त करना गलत, कुलपति को यह हक नहीं

उदयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुखाड़िया विवि की बॉम बैठक के दौरान विरोध-प्रदर्शन करते एबीवीपी के कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
सुखाड़िया विवि की बॉम बैठक के दौरान विरोध-प्रदर्शन करते एबीवीपी के कार्यकर्ता।
  • बॉम बैठक में कुलपति पर नियम-कायदों को दरकिनार कर फैसला लेने का आरोप

मेवाड़ में उच्च शिक्षा के सर्वोच्च केंद्र मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय में विवादों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। कुलपति प्रो. अमेरिका सिंह के निर्देश पर हाल ही 2 जून को बर्खास्त किए गए स्पोर्ट्स बोर्ड के सहायक निदेशक डॉ. भीमराज पटेल और डॉ. हेमराज चौधरी का मामला शुक्रवार को सुविवि के बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट (बॉम) की बैठक में गूंजा।

सुविवि के गेस्ट हाउस में कुलपति प्रो. अमेरिका सिंह की मौजूदगी में हुई इस बैठक में राज्यपाल कलराज मिश्र के प्रतिनिधि प्रो. बीपी सारस्वत ने खुलकर विरोध दर्ज कराया। प्रो. सारस्वत ने बैठक की जानकारी देते हुए खुलासा किया कि उन्होंने कुलपति से कहा कि स्पोर्ट्स बोर्ड के सहायक निदेशक डॉ. पटेल और डॉ. चौधरी की नियुक्ति का अधिकार बॉम के पास है तो आप बिना बॉम के निर्णय के उन्हें कैसे बर्खास्त कर सकते हैं? आप मनमर्जी से नियम-कायदों को दरकिनार कर किसी को इस तरह बर्खास्त नहीं कर सकते। बैठक में प्रो. सारस्वत ने कहा कि कुलपति ने नियमों के विरुद्ध जाकर जो काम किया है, वह आज तक हिंदुस्तान में किसी भी कुलपति ने नहीं किया है। उन्होंने अपने पद का दुरुपयोग किया है।

कुलपति बोले- राज्यपाल मिश्र के आदेश पर ही की गई थी कार्रवाई

जवाब में कुलपति प्रो. सिंह ने कहा- राज्यपाल मिश्र के आदेश पर कार्रवाई की गई, जिसके जवाब में राज्यपाल के प्रतिनिधि सारस्वत ने कहा- झूठ मत बोलिए। राज्यपाल ने विवि के नियम-कायदों के अनुसार कार्रवाई के लिए कहा था। नियम विरुद्ध कार्रवाई की बात बिल्कुल भी नहीं की गई।

अगर कहा तो लिखित ऑर्डर सबसे सामने बताइए। बैठक के बाद इस संबंध में सुविवि कुलपति प्रो. अमेरिका सिंह और विवि प्रवक्ता डॉ. कुंजन आचार्य से बातचीत करने का प्रयास किया गया, लेकिन उन्होंने कोई वक्तव्य जारी नहीं किया। इससे पहले सुविवि की बॉम बैठक आयोजित होने की सूचना तक भी जारी नहीं की गई।

बॉम बैठक में सरकार के प्रतिनिधि भी रहे मौजूद

सुविवि की बॉम बैठक में कुलपति प्रो. अमेरिका सिंह राठौड़, राज्यपाल के प्रतिनिधि प्रो. बीपी सारस्वत, प्रदेश सरकार के प्रतिनिधि शांतिलाल, साइंस कॉलेज डीन प्रो. जीएस राठौड़, डीन पीजी स्टडी प्रो. मदन सिंह राठौड़, प्रो. पीके सिंह, प्रो. सीमा जालान, डॉ. अजीत भाभोर आदि मौजूद थे।

डॉ. पटेल, डॉ. चौधरी ने कार्रवाई को हाईकोर्ट में दे रखी है चुनौती

प्रो. पीएस राणावत की कमेटी का हवाला देकर डॉ. पटेल और डॉ. चौधरी के गुड एकेडमिक रिकॉर्ड को विवि और प्रदेश सरकार के नियमानुसार उचित नहीं होना बताया गया। जबकि इस फैसले में विरोधाभास के चलते प्रो. राणावत की ही पांच सदस्यीय कमेटी के सदस्य और सुविवि के पूर्व डीन पीजी स्टडी प्रो. बीएल आहूजा और प्रो. आरती प्रसाद ने हस्ताक्षर नहीं किए। अब डॉ. पटेल और डॉ. चौधरी ने इस मामले को हाई कोर्ट में चुनौती दे रखी है।

खबरें और भी हैं...