पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लेकसिटी में लापरवाही:उदयपुर में पर्यावरण दिवस पर काटे गए हरे भरे पेड़, सामाजिक संगठनों के विरोध के बाद बंद हुई कटाई

उदयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थूर पंचायत समिति में काटे हरे भरे पेड़। - Dainik Bhaskar
थूर पंचायत समिति में काटे हरे भरे पेड़।

अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस के मौके पर जहां देशभर में लोग पौधरोपण कर पर्यावरण को बचाने की बात कर रहे हैं। वहीं उदयपुर में हरे भरे पौधों को काटा जा रहा है। ऐसा ही मामला शहर के थूर पंचायत समिति में सामने आया। जहां पूर्व सरपंच रमेश पटेल की जमीन पर शनिवार को दो हरे-भरे नीम के पेड़ों को काट दिया गया। इसके बाद सामाजिक संगठन के लोग मौके पर पहुंचे और पेड़ों की कटाई रोकी।

मौके से भागा पूर्व सरपंच रमेश पटेल।
मौके से भागा पूर्व सरपंच रमेश पटेल।

सामाजिक कार्यकर्ता दिलीप वैष्णव ने बताया कि आज पर्यावरण दिवस के मौके पर हम ग्रामीण इलाकों में पौधरोपण कर रहे थे। तभी हमारे पास सूचना ही की थूर पंचायत समिति के पूर्व सरपंच रमेश पटेल अपनी जमीन पर पांच हरे भरे नीम के पेड़ काट रहे हैं। इसके बाद हम मौके पर पहुंचे तब तक दो पेड़ कट चुके थे। लेकिन रमेश पटेल मौके पर नहीं थे। इसके बाद दिलीप वैष्णव की टीम द्वारा पुलिस प्रशासन को पूरे घटनाक्रम की जानकारी देकर पेड़ों की कटाई रुकवा ही गई। लेकिन तब तक हरे-भरे 30 से 40 फीट ऊंचे दो नीम के पेड़ धरा शाही हो चुके थे।

हरे भरे पेड़ों की कटाई के बाद सामाजिक संगठनों ने शुरू किया विरोध।
हरे भरे पेड़ों की कटाई के बाद सामाजिक संगठनों ने शुरू किया विरोध।
खबरें और भी हैं...