पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जावर माइंस क्षेत्र में हैवानियत:राेशनदान तोड़कर घर में घुसे युवक, महिला से दो रात तक ज्यादती की, हालचाल जाने पहुंचे जीजा को महिला ने आपबीती सुनाई, पांच गिरफ्तार

उदयपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पकड़े गए आरोपियों के साथ पुलिस। - Dainik Bhaskar
पकड़े गए आरोपियों के साथ पुलिस।
  • पति की मौत के बाद तीन बच्चों के साथ रहने वाली महिला के साथ वारदात
  • महिला का मुंह दबाकर दुष्कर्म किया। विरोध पर बच्चों को जान से मारने की धमकी दी

जावरमाइंस थाना क्षेत्र के गांव में अकेली रह रही महिला से पांच युवकों ने 8 और 9 अक्टूबर की रात बारी-बारी से ज्यादती की। पति की मौत के बाद तीन बच्चों के साथ रह रही महिला इस वहशत से इतनी डर गई कि दो दिन तक घर से ही नहीं निकली। आशंका पर हालचाल जाने पहुंचे जीजा को महिला ने आपबीती सुनाई। फिर पुलिस में मामला दर्ज कराया गया। पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस के मुताबिक महिला का घर रेलवे लाइन से सटे उसके बीड़े में है। इस घर से सबसे करीबी मकान आधा किमी दूर है। गत 8 अक्टूबर की रात इलाके के ही हरीश पुत्र देवीलाल मीणा, दीपक पुत्र हीरालाल मीणा, और पप्पू पुत्र हुरजी मीणा रोशनदान तोड़कर घर में जा घुसे। फिर महिला का मुंह दबाकर दुष्कर्म किया। विरोध पर बच्चों को जान से मारने की धमकी दी।

बारी-बारी से ज्यादती के बाद तीनों भाग गए और अपने साथी आकाश पुत्र धर्मा मीणा निवासी टीडी फलां गोज्या व अजय उर्फ आजाद पुत्र धर्मा मीणा निवासी गोज्या फलां बावजी को दी। दूसरी रात ये दोनों भी महिला के घर जा पहुंचे और सबको जान से मारने की धमकी देकर महिला से दुष्कर्म किया। सहमी-घबराई महिला में किसी को कुछ भी बताने की हिम्मत नहीं कर पाई।

आरोपियों का इतना खौफ कि महिला न ताे घर से बाहर निकली न ही पुलिस तक पहुंचने की हिम्मत जुटा पाई

कई दिनों से लगे हुए थे महिला के पीछे

पुलिस के अनुसार दो आरोपी पीड़िता के गांव के ही थे, जो कई दिनों से उसके पीछे लगे थे। घर से बीड़े तक आने-जाने के अलावा महिला कहीं नहीं जाती थी। 8 अक्टूबर की रात मौका देखकर तीनों आरोपी महिला के घर जा धमके। गोज्या गांव के तीनों आरोपियों का ननिहाल महिला के गांव में ही है, जहां वे अक्सर अपने मामा के घर पर जाते रहते थे। इसी दौरान इनकी दोस्ती इस गांव में रहने वाले आरोपी युवकाें से हो गई। एक बार दुष्कर्म के बाद तीनों ने शराब के नशे में दोनों दोस्तों को भी बता दिया था।

घटना से महिला इतना घबरा गई कि वह दो दिन तक बच्चों के साथ घर में ही दुबकी रही। किसी का फोन भी नहीं उठाया। अनहोनी की आशंका पर उसका जीजा बुधवार को घर पहुंचा तो रोती-बिखलती पीड़िता ने आपबीती कह सुनाई। डीएसपी हीरालाल ने बताया कि जीजा-साली जावरमाइंस थाने पहुंचे। नामजद रिपोर्ट पर थानाधिकारी कमलेन्द्र सिंह ने तुरंत गांव में दबिश देकर आरोपी आकाश, अजय उर्फ आजाद, हरीश मीणा, दीपक मीणा और देवीलाल मीणा को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार पांचों आरोपी मजदूरी करते हैं और काम नहीं होने गांव में ही इधर-उधर घूमते फिरते हैं। पांचों से पूछताछ की जा रही है।

खबरें और भी हैं...