पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मेडिकल प्रवेश परीक्षा:बारिश-कोरोना पर भारी नीट का जोश, 95% रही उपस्थिति, बस स्टैंड से लेकर रेलवे स्टेशन तक अभ्यर्थियों और अभिभावकों का रेला

उदयपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 30 केंद्रों पर 9780 में से 9290 ने दी परीक्षा, डिस्टेंस से दाखिले के साथ दिए मास्क

मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की नीट-2021 परीक्षा रविवार को कोरोना प्रोटोकाल के तहत हुई। इस बार शहर में नीट की परीक्षा के लिए 30 परीक्षा केंद्र बनाए गए। बारिश और कोरोना महामारी के बीच भी 9780 में से 9290 यानी 94.98 फीसदी परीक्षार्थियों ने नीट परीक्षा दी। वहीं कुल 490 यानी 5.02 प्रतिशत परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने नए परीक्षा पैटर्न के मुताबिक हुई इस मेडिकल प्रवेश परीक्षा में कुल 200 प्रश्न पूछ गए। इनमें से उम्मीदवारों को 180 प्रश्नों के उत्तर देने थे।

प्रत्येक विषय यानी फिजिक्स, कैमिस्ट्री, जूलॉजी और बॉटनी के प्रश्नों को खंड ए और बी में विभाजित किया गया। एक्सपर्ट शैलेन्द्र सोमानी ने बताया कि खंड ए में 35 प्रश्न थे जबकि खंड बी में 15 प्रश्न थे। सेक्शन ए में सभी 35 प्रश्न अनिवार्य थे जबकि सेक्शन बी में उम्मीदवारों को 15 प्रश्नों में से किसी भी 10 प्रश्नों का उत्तर देना था। इसने कुल 45 प्रश्न बनाए जिनका प्रत्येक विषय में उत्तर देना था। फिजिक्स और कैमिस्ट्री के पेपर में कुछ प्रश्न कठिन। इस बार भौतिकी के कुछ प्रश्न उलझाने वाले थे। रसायन विज्ञान में आर्गेनिक के एक-दो प्रश्न थोड़े ट्रिकी पूछ गए थे। जबकि जीवविज्ञान के प्रश्न आसान थे। परीक्षा केंद्रों के बाहर सुबह 8 से दोपहर 11 बजे तक हल्की बारिश के बीच उत्साह के लबरेज परीक्षार्थियों की भीड़ जमा रही।

कैंडीडेट बोले- भौतिकी के कुछ प्रश्नों ने उलझाया, ट्रिकी थे रसायन विज्ञान में आर्गेनिक के प्रश्न

नीट परीक्षा में सर्वाधिक 869 परीक्षार्थी सेंट एनथनीज, सर पदमपत सिंघानिया यूनिवर्सिटी में 693 और 570 परीक्षार्थी सनराइज ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन पहुंचे। परीक्षा दोपहर दो बजे से शाम पांच बजे तक आयोजित की गई। परीक्षार्थियों को मास्क पहने और दो गज की दूरी के बाद ही परीक्षा केंद्रों में प्रवेश दिया गया। परीक्षा केंद्रों के बाहर अभिभावकों की काफी भीड़ जमा रही। परीक्षा केंद्र के बाहर अमूमन लोग बिना मास्क पहने दिखाई दिए। हल्की बारिश के बीच दूसरे जिलों से आने वाले परीक्षार्थियों का सुबह 8 बजे से ही परीक्षा केंद्रों पर पहुंच शुरू हो गया था।

अभ्यर्थी अपने-अपने अभिभावकों के साथ परीक्षा केंद्रों पर रिपोर्टिंग करने सुबह 11 बजे से पहुंचे। कई अभ्यर्थी रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड से सीधे परीक्षा केंद्र पहुंचे। अभ्यर्थियों ने कहा कि सुबह से ही रिपोर्टिंग करने का समय था, इस कारण परीक्षा केंद्र पर पहुंच रहे थे। नीट की परीक्षा में शामिल होने के लिए विद्यार्थियों को सुबह 11 बजे से ही परीक्षा केंद्रों पर रिपोर्टिंग का समय दिया गया था। परीक्षा केंद्रों पर कोविड गाइडलाइन का पालन किया गया। इसके दिशा-निर्देश भी परीक्षा केंद्रों पर भी चस्पा किए गए। परीक्षार्थियों ने कहा कि भौतिकी के सभी प्रश्न कठिन थे, जबकि रसायन और जीवविज्ञान के प्रश्न आसान थे।

रोडवेज : बसें बढ़ाईं, फिर भी भीड़, क्योंकि आज शुरू होगी एसआई भर्ती परीक्षा

नीट औैर सोमवार को शुरू होने वाली राजस्थान लाेक सेवा आयोग की उप निरीक्षक संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा के चलते रविवार को रोडवेज बस स्टैंड पर अभ्यर्थियों का रेला लगा रहा। डिपाे पर सुबह से लेकर देर रात परीक्षार्थियों अपने गंतव्य पर जाने के लिए बस का इंतजार करते रहे। दिन में जहां बसाें में खचाखच सवारियां भरकर गईं, वहीं रात के समय भी काफी संख्या में यात्री बचे रहने पर अतिरिक्त बसाें का संचालन करना पड़ा। जयपुर रूट पर 2 और बांसवाड़ा रूट पर 1 अतिरिक्त बस चलाई गई।

ये बसें रात्रि विश्राम के लिए डिपाे पर रुकीं। जिले के परीक्षार्थियों के उप निरीक्षक संयुक्त प्रतियोगिता एग्जाम का सेंटर सीकर, जयपुर मिलने से इन रूट की बसाें में सबसे ज्यादा यात्री भार देखने काे मिला है। आगार प्रबंधक महेश उपाध्याय ने बताया कि बसाें में 10 प्रतिशत यात्री भार बढ़कर 92 प्रतिशत पहुंचा है। खेरवाड़ा, सलूंबर, कानाेड़, भींडर, भटेवर, केसरियाजी और आसपुर क्षेत्र के सबसे ज्यादा परीक्षार्थी बस स्टैंड पहुंचे है। बता दें कि राेडवेज प्रशासन परीक्षार्थियों काे साधारण व एक्सप्रेस बसाें में निशुल्क यात्रा की सुविधा दी हैै।

खबरें और भी हैं...