• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Himanshu Was Accidentally Killed In A Quarrel Between Chandan And Dungar Singh Gang, Due To The Appearance Of Alcohol Intoxication, Two Arrested

झगड़े के चलते गलती से हुई किशोर की हत्या:शराब के नशे में शक्ल मिलने से हुई गफलत, दो गैंग के झगडे़ में गलती से मारा गया हिमांशु

उदयपुर23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी गुरपाल और प्रवीण। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी गुरपाल और प्रवीण।

उदयपुर के फलासिया थाना क्षेत्र के कोल्यारी गांव में दीपावली की शाम को एक किशोर की हत्या के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। हालांकि अभी और भी लोगों की गिरफ्तारी बाकी है। आरोपियों से पूछताछ में चौंकाने वाली कहानी सामने आई है। असल में मृतक किशोर की चचेरे भाई से शक्ल मिलने से वो मारा गया। इस मामले को लेकर शुक्रवार को दिन भर हाईवे पर ग्रामीणों ने टायर जलाकर प्रदर्शन किया था। मुआवजे सहित स्थाई पुलिस चौकी खोलने की मांगे रखी गई।

दरअसल कोल्यारी में दीपावली की शाम को गुरपाल और प्रवीण समेत करीब आधा दर्जन लोग बाईपास पर गोदाम के बाहर बैठकर शराब पी रहे थे। तभी अपनी पिता की लोडिंग गाड़ी को लेने जा रहे हिमांशु (16) को शराब के नशे में बदमाशों ने चंदन समझ लिया। बदमाशों ने हिमांशु को रोककर बहसबाजी करते हुए चाकू से वार कर दिए और बाद पत्थरों से हमला कर उसे अधमरा छोड़कर भाग गए। बाद में होश में आने पर हिमांशु ने पिता को फोन कर हमले की जानकारी दी। पिता जब तक मौके पर पहुंचे हिमांशु बेहोश अवस्था में था।

मृतक हिमांशु शर्मा।
मृतक हिमांशु शर्मा।

डीएसपी गिरधर सिंह ने बताया कि मामले की गंभीरता को समझते हुए पुलिस की टीमें लगातार आरोपियों को ढूंढने में लगी रही। मुखबिर की सूचना पर एक इलाके से गुरपाल सिंह सिसोदिया और प्रवीण दरोगा को हिरासत में लिया गया। आरोपी शुरुआती पूछताछ में बयान बदल रहे थे। इस वजह से हत्या को लेकर स्पष्ट तौर पर कोई कहानी सामने नहीं आई है। गुरपाल सिंह ने हिमांशु पर चाकू से वार किए थे।

थानाधिकारी रामनारायण ने बताया कि संभव है कि आरोपियों ने चंदन के साथ मृतक हिमांशु को देखा होगा और इसी वजह से उसे सॉफ्ट टारगेट मानते हुए ठिकाने लगाने की साजिश भी बनाई गई हो। चंदन और हिमांशु की शक्ल काफी मिलती-जुलती थी। इस वजह से शराब के नशे में धुत्त आरोपी मृतक को चंदन समझ कर भी हमला करते रहे। प्राथमिक तौर पर सामने आया है कि वारदात के वक्त करीब आधा दर्जन बदमाश मौजूद थे।

वारदात के बाद मौके पर जमा लोग।
वारदात के बाद मौके पर जमा लोग।

वहीं शुक्रवार को मुआवजे और स्थाई पुलिस चौकी की मांग को लेकर जमकर विरोध हुआ। ग्रामीणों ने कोल्यारी बाईपास पर टायर जलाकर प्रदर्शन किया। एएसपी सहित आला पुलिस अधिकारियों ने समझाइश कर मामला शांत करवाया। इसके तहत मृतक के परिवार को नियमन मुआवजा दिलवाने और पुलिस चौकी में एक हेड कांस्टेबल और 4 कांस्टेबल को लगाने का आश्वासन दिया। एएसपी ने कहा कि हाईवे पर 58 ई पर झाडोल थाना क्षेत्र से गरणवास तक मोबाइल गश्त रहेगी। इस दौरान 6 पुलिस थानों का जाब्ता मौके पर तैनात रहा। हत्या के विरोध में कस्बा भी दिनभर बंद रहा।

मौके पर समझाइश करते हुए डीएसपी।
मौके पर समझाइश करते हुए डीएसपी।
खबरें और भी हैं...