उदयपुर हत्याकांड:आरोपियों को अजमेर से लेकर जयपुर के लिए रवाना हुई NIA टीम, दिल्ली ले जाया जा सकता है

उदयपुरएक महीने पहले
गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार सहित 4 आरोपियों को NIA कोर्ट में पेशी के लिए कड़ी सुरक्षा में जयपुर लाया गया।

उदयपुर में हुए कन्हैयालाल हत्याकांड के चारों आरोपियों को शनिवार दोपहर डेढ़ बजे जयपुर नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) कोर्ट में पेश किया गया। यहां वकीलों ने आरोपियों को फांसी देने की मांग करते हुए नारेबाजी की और उनके साथ जमकर मारपीट की। वकीलों ने आरोपियों के कपड़े फाड़ दिए। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिस ने बीच-बचाव करते हुए उन्हें कोर्ट रूम ले गई।

कोर्ट ने NIA को हत्यारों को 12 जुलाई तक 10 दिन की रिमांड पर सौंप दिया है। तालिबानी हत्याकांड के मुख्य आरोपी गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार को कड़ी सुरक्षा के बीच अजमेर से सुबह जयपुर लेकर पहुंची थी। दोनों यहां की हाई सिक्योरिटी जेल में बंद थे। दो अन्य आरोपी मोहसिन और आसिफ हैं। ये दोनों भी टेलर कन्हैया के मर्डर की साजिश में शामिल बताए जाते हैं।

जयपुर कोर्ट में पेश करने के बाद आरोपियों को अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल शनिवार शाम करीब साढ़े सात बजे ले जाया गया। रात करीब 10 बजे NIA की टीम अजमेर पहुंची और आरोपियों को कस्टडी में लेकर जयपुर के लिए रवाना हो गई। बताया जा रहा है कि देर रात आरोपियों को दिल्ली ले जाया जा सकता है।

पूरी रिपोर्ट पढ़ने से पहले पोल में हिस्सा लेकर अपनी राय दीजिए...

वहीं, जयपुर में प्रशासन ने नेटबंदी को 3 जुलाई शाम तक के लिए बढ़ा दिया है। उधर, पांचवें दिन शनिवार को प्रशासन ने उदयपुर में कर्फ्यू में 4 घंटे की ढील देने का ऐलान किया है। जिला मजिस्ट्रेट ताराचंद मीणा के आदेश के मुताबिक दोपहर 12 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक छूट रही। ऐसे में वे अपनी रोजमर्रा की जरूरतों के लिए बाहर निकले।

अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल से शनिवार सुबह गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार को कड़ी सुरक्षा के बीच NIA टीम जयपुर के लिए रवाना हुई। जयपुर में हत्यारों को ATS ऑफिस ले जाया गया। में NIA कोर्ट में पेश किया गया।
अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल से शनिवार सुबह गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार को कड़ी सुरक्षा के बीच NIA टीम जयपुर के लिए रवाना हुई। जयपुर में हत्यारों को ATS ऑफिस ले जाया गया। में NIA कोर्ट में पेश किया गया।

शहर में 1 जुलाई को जगन्नाथ रथयात्रा शांतिपूर्ण तरीके से निकलने के बाद ऐसी उम्मीद थी कि शनिवार से कर्फ्यू में ढील मिल सकती है। हालांकि, इंटरनेट रविवार तक बंद रहेगा। इस हत्याकांड के विरोध में शनिवार को भी राजस्थान के 5 जिलों में बंद का ऐलान किया गया है।

वहीं, जांच एजेंसियां शनिवार को भी गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार से जुड़े कई एंगल पर जांच-पड़ताल करने में जुटी हुई हैं। साथ ही शनिवार को गिरफ्तार किए गए इन दोनों के सहयोगी मोहसिन और आसिफ से भी पूछताछ हो सकती है। पुलिस के मुताबिक, इन दोनों युवकों का भी कन्हैयालाल की हत्या के षड्यंत्र में हाथ था।

उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के विरोध में शनिवार को अलवर बंद रहा। बंद के दौरान सूनी पड़ी सड़क।
उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के विरोध में शनिवार को अलवर बंद रहा। बंद के दौरान सूनी पड़ी सड़क।

उदयपुर हत्याकांड का 26/11 कनेक्शन, VIDEO:मर्डर के लिए खास नंबर वाली बाइक का इस्तेमाल; किश्तों में खरीदी थी, 5 हजार में लिया था नंबर

BJP नेता कपिल मिश्रा शनिवार को उदयपुर पहुंचे। उन्होंने मृतक कन्हैयालाल के घर पहुंचकर परिजनों को सांत्वना दी। उन्होंने घरवालों को 1 करोड़ रुपए का चेक सौंपा।

हत्याकांड के विरोध में आज ये शहर बंद
उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड को लेकर शनिवार को कई शहरों में बाजार बंद रहा। कोटा में हिंदू संगठनों की ओर से बंद बुलाया था। इसको स्थानीय व्यापारियों ने समर्थन दिया है। अलवर में व्यापार संघ ने बंद बुलाया है। भरतपुर में सर्व समाज और हिंदू संगठनों ने बंद बुलाया है। करौली शहर भी आज बंद रहा। बंद का आह्वान व्यापारिक और हिंदू संगठनों ने किया था। श्रीगंगानगर में शनिवार को आधे दिन सुबह 9 से 1 बजे तक मार्केट बंद रहा।

भरतपुर में बंद के दौरान ई-रिक्शा में बैठकर गश्त करती पुलिस।
भरतपुर में बंद के दौरान ई-रिक्शा में बैठकर गश्त करती पुलिस।

कन्हैयालाल की शॉप के पास बनाई प्लानिंग:500 मीटर दूर मिली गौस मोहम्मद की स्कूटी, 2611 का कनेक्शन भी

NIA उदयपुर से समेट सकती है जांच
माना जा रहा है कि इस मामले में NIA अपनी जांच सीमित कर सकती है। एजेंसी ने स्थानीय स्तर पर काफी जांच कर ली है। साथ ही इंटरनेशनल एंगल और कट्‌टरपंथियों से जुड़े अपराधियों के कनेक्शन को लेकर अब NIA अपनी जांच दिल्ली या अन्य जगहों से कर सकती है। वहीं,, राजस्थान पुलिस की ATS और SIT एजेंसियां अपनी जांच जारी रखेंगी।

ऑर्डर थे- गोली मत मारना, गला रेतकर VIDEO बनाना:भारी हथियार बनाया ताकि झटके में गर्दन कट जाए, अजमेर से बनना था तीसरा वीडियो

शुक्रवार को उदयपुर में जगदीशजी के मंदिर से रथयात्रा निकाली गई। कोरोना के कारण दो साल यह यात्रा नहीं निकल सकी थी। हत्याकांड के बाद तनाव के चलते इस बार भी रथयात्रा पर सकंट के बादल छा गए थे, लेकिन संगठनों के साथ मीटिंग के बाद प्रशासन ने इजाजत दे दी।
शुक्रवार को उदयपुर में जगदीशजी के मंदिर से रथयात्रा निकाली गई। कोरोना के कारण दो साल यह यात्रा नहीं निकल सकी थी। हत्याकांड के बाद तनाव के चलते इस बार भी रथयात्रा पर सकंट के बादल छा गए थे, लेकिन संगठनों के साथ मीटिंग के बाद प्रशासन ने इजाजत दे दी।

ये भी पढ़ें-

राजस्थान में डिजिटल इमरजेंसी:सरकार ने करोड़ों लोगों से छीना इंटरनेट का मौलिक अधिकार, ये सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर का उल्लंघन

नाजिम का परिवार बोला: आतंकियों से कनेक्शन नहीं:पिता के दोस्त कन्हैयालाल के लिए लिखा- जहां दिखे जान से मार देना

1 पोस्ट से शुरू हुआ विवाद, 20 दिन की साजिश:कन्हैयालाल की हत्या प्री-प्लान्ड थी, पढ़िए 8 से 28 जून तक का पूरा घटनाक्रम