• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Khachariyawas Handed Over The Responsibility Of The Nomination Rally And Meeting To The Workers, Reviewed The Visit Of The CM, Preeti Was Present In The Meeting Of The Minister In Charge, The Other Four Leaders Were Absent

वल्लभनगर उपचुनाव:खाचरियावास ने कार्यकर्ताओं काे सौंपी नामांकन रैली और सभा की जिम्मेदारी, सीएम के दौरे की समीक्षा की, प्रभारी मंत्री की बैठक में प्रीति मौजूद रहीं, अन्य चार नेता नदारद रहे

उदयपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

वल्लभनगर में उपचुनाव को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 8 अक्टूबर को चुनावी दौरे पर कांग्रेस प्रत्याशी के नामांकन कार्यक्रम में आएंगे। सीएम के दौरे से पूर्व प्रभारी परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने बुधवार को भटेवर स्थित एक होटल में बैठक ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के साथ तैयारियों पर मंथन किया। इसमें उन्होंने वरिष्ठ कार्यकर्ताओं काे नामांकन रैली की व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी सौंपी और सीएम के दौरे की तैयारियों की समीक्षा की। बैठक में वरिष्ठ पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने प्रभारी मंत्री को पगड़ी, माला पहनाकर और उपरणा ओढ़ाकर अभिनंदन किया।

खाचरियावास के साथ देहात जिलाध्यक्ष लालसिंह झाला, चुनाव प्रभारी व पूर्व विधायक पुष्करलाल डांगी, प्रीति शक्तावत, पूर्व प्रधान करणसिंह कोठारी, पूर्व प्रधान चमन शेखर सुथार, पूर्व प्रधान प्रतिनिधि व किसान नेता कुबेरसिंह चावड़ा, किसान नेता सूरजमल मेनारिया, पूर्व नेता प्रतिपक्ष शंकर चौधरी, प्रदेश महासचिव यूथ कांग्रेस दुष्यंतराज, नवल चूंडावत, ब्लॉक अध्यक्ष सुनील कुकड़ा, कमलेन्द्र सिंह, यूथ विधानसभा अध्यक्ष कुंदनसिंह कच्छेर आदि मौजूद थे।

श्रीराम और महाराणा प्रताप पर विवादित बयान देने वाली भाजपा को सबक सिखाएंगे

खाचरियावास ने कहा की भगवान श्रीराम और वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप के नाम पर वोट मांगने वाली भाजपा को इस बार उपचुनाव में सबक सिखाना है। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया का नाम लिए बिना कहा कि भाजपा नेता श्रीराम और महाराणा प्रताप पर भी विवादित बयान देने से नहीं चूकते, जबकि हकीकत यह है कि भगवान श्रीराम और महाराणा प्रताप नहीं होते तो भाजपा के नेताओं का नामोनिशान नहीं होता।

कोरोना संकट के समय केन्द्र सरकार ने राजस्थान की जनता के साथ धोखा किया। ऑक्सीजन के लिए राजस्थान की जनता तड़प रही थी, तब केन्द्र सरकार ने ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं की। कोरोना के समय गहलोत सरकार के हर मंत्री ने अस्पतालों में जाकर लोगों को संभाला, वहीं भाजपा के सभी नेता व भाजपा सांसद नदारद रहे। सीएम की प्रस्तावित यात्रा को लेकर खाचरियावास के नेतृत्व में हुई कार्यकर्ताओं की तैयारी बैठक में कांग्रेस पार्टी से टिकट की दावेदारी जताने वाले चारों दावेदार नदारद दिखाई दिए।

11 दस्तावेजों में से किसी को भी दिखाकर किया जा सकेगा मतदान

वल्लभनगर और धरियावद विधानसभा में 30 नवंबर को होने वाले उपचुनाव में मतदान करने वाले जिन मतदाताओं के पास फोटो पहचान-पत्र नहीं हैं वे 11 अन्य वैकल्पिक दस्तावेजों में से किसी एक दस्तावेज का प्रयोग कर वोट दे सकेंगे। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि आधार कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, बैंक व डाकघर की जारी फोटोयुक्त पासबुक, श्रम मंत्रालय की योजना में जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और पैन कार्ड से भी मतदान कर सकेंगे।

एनपीआर के तहत आरजीआई द्वारा जारी किए गए स्मार्ट कार्ड, भारतीय पासपोर्ट, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज, राज्य केन्द्र सरकार के लोक उपक्रम, पब्लिक लिमिटेड कम्पनियों द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किए गए फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र, सांसद, विधायक/विधान परिषद सदस्यों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र दिखाकर भी मतदान कर सकते हैं।

फ्लाइंग स्क्वायर्ड टीम मुस्तैद : वल्लभनगर उपचुनाव के लिए फ्लाइंग स्क्वायर्ड टीम मुस्तैद हो चुकी है। चुनाव के दौरान मतदाताओं को किसी भी प्रकार का प्रलोभन न दिया जाए, इसलिए जिला निर्वाचन अधिकारी चेतन देवड़ा के निर्देश पर संबंधित विधानसभा क्षेत्र के लिए गठित टीम ने बुधवार को प्रमुख मार्गों, चौराहों पर वाहनों की जांच की।

आईएएस-आईपीएस काे सामान्य व पुलिस पर्यवेक्षक लगाया : वल्लभनगर व धरियावद में निर्वाचन प्रक्रिया के चलते सामान्य व पुलिस पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं। निर्वाचन अधिकारी चेतन देवड़ा ने बताया कि वल्लभनगर के लिए आईएएस सोमा भट्टाचार्जी को सामान्य पर्यवेक्षक और आईपीएस एमएफ फारूकी को पुलिस पर्यवेक्षक और धरियावद विधानसभा के लिए आईएएस देविन्दर सिंह को सामान्य पर्यवेक्षक और आईपीएस हरीश बैजल को पुलिस पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है।

खबरें और भी हैं...