उदयपुर में तालिबानी हत्याकांड, पोस्टमार्टम कल:मर्डर के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग, पुलिस से झड़प-पथराव; 7 घंटे बाद उठाया शव

उदयपुर5 महीने पहले
  • सीएम ने की अपील- हम सब मिलकर प्रदेश में शांति रखें

उदयपुर में मंगलवार को नूपुर शर्मा के समर्थन में एक युवक की तालिबानी तरीके से हत्या कर दी गई। विरोध में सड़कों पर उतरे लोग करीब 7 घंटे बाद रात 10 बजे शव उठाने पर राजी हुए। शव उदयपुर के अस्पताल में रखवाया गया है। बुधवार सुबह पोस्टमार्टम कराया जाएगा। इससे पहले हाथीपोल चौराहे पर पहुंचे लोगों और पुलिस की झड़प हुई। इसमें भाजपा युवा मोर्चा का एक कार्यकर्ता घायल हो गया। मौके पर नियंत्रण के लिए भारी पुलिस जाब्ता तैनात किया गया। वहीं, बर्बर हत्याकांड ट्विटर सहित अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर टॉप ट्रेंडिंग में शामिल रहा।

बर्बर हत्याकांड के विरोध में भारी संख्या में लोगों ने एकत्रित होकर नारेबाजी की। इस बीच पत्थरबाजी की घटना हुई। शाम करीब पौने आठ बजे हाथीपोल इलाके में पत्थरबाजी शुरू हो गई। पुलिस पर पथराव किया गया। हालांकि पुलिस का भारी जाब्ता मौके पर तैनात है। उधर, दोनों आरोपी रियाज अंसारी और मोहम्मद गौस को राजसमंद के भीम से गिरफ्तार कर लिया गया है। उदयपुर जिले में अगले आदेश तक इंटरनेट बंद कर दिया गया है।

शव नहीं उठाने पर अड़े लोग
हत्या के बाद मृतक के परिजन और समाज के लोग शव नहीं उठाने पर अड़े थे। मारे गए युवक कन्हैया की डेड बॉडी उसकी दुकान के बाहर ही रखी थी। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि जब तक एसपी और आईजी सस्पेंड नहीं होते तब तक शव को नहीं उठाने दिया जाएगा। लगभग 5 थानों के एसएचओ सहित तमाम पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच चुके थे। इसके बाद देररात दोनों पक्षों में समझौता हो गया है। मारे गए युवक के परिजनों की मांगों पर सहमति बन गई।

रात को बड़ी संख्या में लोग हाथीपोल इलाके में जमा हुए।
रात को बड़ी संख्या में लोग हाथीपोल इलाके में जमा हुए।

सीएम ने की शांति की अपील
सीएम के जोधपुर एयरपोर्ट पहुंचने के बाद उदयपुर मामले में बयान जारी किया। उन्होंने कहा- बहुत चिंता वाली बात है। किसी का मर्डर करना चिंताजनक है। पूरे देश में तनाव का माहौल बन गया है। माहौल ठीक नहीं है। गलियों-मोहल्लों में जहां जिसकी आबादी कम संख्या में है वे ज्यादा चिंतित है। आपस में तनाव और डिस्टेंस हो गया है। पीएम का भी फर्क पड़ता है।

उन्होंने कहा- पीएम को संबोधित करना चाहिए और अपील करनी चाहिए कि हम किसी तरह की हिंसा को बर्दाश्त नहीं करेंगे। यह घटना मामूली नहीं है, यह कल्पना से बाहर है। उन्होंने कहा कि मैंने भी सभी से शांति-सद्भावना बनाए रखने की अपील की। नेता प्रतिपक्ष से भी मिला कि तनाव पैदा न हो। हम सब मिलकर प्रदेश में शांति रखें। मामले को लेकर वे बोले कि आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा।

बाजारों की दुकानें बंद करवाई गईंं।
बाजारों की दुकानें बंद करवाई गईंं।

पुलिस ने दिखा तत्परता

घटना के बाद उदयपुर पुलिस तुरंत एक्टिव हुई। तमाम पुलिस अधिकारी जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे। हालात पर काबू पाने की कोशिश की। वहीं, राजस्थान पुलिस मुख्यालय ने दो एडीजी जंगा श्रीनिवास राव और एडीजी एसीबी दिनेश एमएन को जयपुर से उदयपुर के लिए रवाना कर दिया है। देर रात तक दोनों एडीजी उदयपुर पहुंच जाएंगे। वहीं, दो डीआईजी राजेन्द्र गोयल और राजीव पचार के साथ-साथ 600 पुलिसकर्मियों का जाप्ता मौके के लिए रवाना कर दिया गया है। पुलिस मुख्यालय ने पूरी घटना को बड़ी गम्भीरता से लेते हुए आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए हैं।

बाजर बंद कर प्रदर्शन कर रहे लोग।
बाजर बंद कर प्रदर्शन कर रहे लोग।

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर हवा सिंह घूमरिया ने जानकारी देते हुए बताया कि अभी आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर हैं, लेकिन जांच एजेंसियां एक्टिव कर दी गई है। जल्द ही आरोपी पकड़े जाएंगे। घूमरिया ने उदयपुर की जनता को आश्वासन देते हुए कहा कि जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी जयपुर में सीनियर अधिकारी पूरे घटनाक्रम पर मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

लोगों को समझाने और बदमाशों की जल्द गिरफ्तारी के लिए दो एडीजी को भेजा गया।
लोगों को समझाने और बदमाशों की जल्द गिरफ्तारी के लिए दो एडीजी को भेजा गया।

देर रात तक अतिरिक्त पुलिस फोर्स भी पहुंचेगा उदयपुर
पुलिस रिपोर्ट के अनुसार घटना के बाद लोग उग्र हो सकते हैं। लोगों को समझाने और बदमाशों की जल्द गिरफ्तारी के लिए दो एडीजी को भेजा हैं। उदयपुर की जनता दिनेश एमएन पर काफी विश्वास करती हैं। इसलिए अधिकारियों को मौके पर भेज कर लोगों के बीच भेजा हैं। एसपी और कलेक्टर भी क्राइम सीन पर मौजूद हैं। पीड़ित परिवार और लोगों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है।

नूपुर शर्मा के समर्थक का तालिबानी तरीके से मर्डर:उदयपुर में तलवार से गला काटा, VIDEO बनाया; 7 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू, दोनों बदमाश गिरफ्तार