पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विवाह पर कोरोना का रोड़ा:उदयपुर में 200 से ज्यादा शादी समारोह हुए स्थगित, वेडिंग इंडस्ट्री को हुआ करोड़ों का नुकसान

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

लेकसिटी उदयपुर में कोरोना संक्रमण और उसके बाद लागू हुए लॉकडाउन ने वेडिंग इंडस्ट्री को बुरी तरह से प्रभावित किया है। अप्रैल में शुरु हुई सरकार की सख्ती की वजह से कई शादियां स्थगित हो गई। जबकि मई में लागू हुए लॉकडाउन में वेडिंग इंडस्ट्री को बद से बदतर स्थिति में ला दिया है। जिसके बाद जून और जुलाई के महीने में शादी के 18 दिन मुहूर्त होने वाले 200 से ज्यादा शादी समारोह स्थगित किए जा चुके हैं।

उदयपुर में वेडिंग इंडस्ट्री से जुड़े लोगों का कहना है कि सरकार की सख्ती का सीधा असर वेडिंग इंडस्ट्री पर पड़ रहा है। पिछले साल कोरोना से बिगड़े हालातों से उबर भी नहीं पाए थे कि फिर से लॉकडाउन ने कमर तोड़ दी है। ऐसे में सरकार को वेडिंग इंडस्ट्री को रियायत देते हुए मेहमानों की संख्या पर फिर से पुनर्विचार करना चाहिए। ताकि हमारी इंडस्ट्री से जुड़े लोगों का भी रोजगार चलता रहे।

वेडिंग इंडस्ट्री चुकाएगी कीमत

उदयपुर के वेडिंग प्लानर ब्रिजेश परवानी ने बताया कि बढ़ते कोरोना के बाद लागू की गई सख्ती से शादी समारोह कैंसिल हो रहे हैं। इस महीने उदयपुर में कई बड़ी शादियां होनी थीं, पर अब नहीं होंगी। इससे वेडिंग इंडस्ट्री को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। परवानी ने बताया कि सरकार ने शादी समारोह में सिर्फ 11 लोगों की अनुमति दी है। इसके बाद हलवाई, मैरिज गार्डन, होटल इंडस्ट्री, इवेंट प्लानर्स पर इसका सबसे ज्यादा असर हो रहा है। ऐसे में इस महामारी के दौर में सरकार को हमारी ओर भी ध्यान देना चाहिए। और रियायत देते हुए मेहमानों की संख्या बढ़ानी चाहिए।

हलवाई भी हुए परेशान नहीं मिल रहा समाधान

कैटर्स एसोसिएशन के लीलाधर ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से बढ़ते संक्रमण के बाद स्थिति काफी बिगड़ गई है। अप्रैल से पहले की जितनी भी बुकिंग थी। धीरे धीरे सब कैंसिल हो रही है। वहीं कुछ में कार्यक्रम को सिर्फ चुनिंदा मेहमानों तक सीमित कर दिया गया है। सरकार लगातार नियमों में बदलाव कर रही है। जिससे आगे की स्थिति भी पूरी तरह अधर झूल में है। इसका सीधा असर हमारे व्यापार पर पड़ रहा है। जिससे 2 जून की रोटी कमा पाना भी मुश्किल साबित हो रहा है। जिससे सिर्फ उदयपुर में करोड़ों रुपए का नुकसान वेडिंग दृष्टि से जुड़े लोगों को उठाना पड़ रहा है।

पिछले साल भी हुआ था यही हश्र

राजस्थान बैंड एसोसिएशन के महामंत्री बुलबुल खान ने बताया कि सख्त गाइडलाइन के कारण उदयपुर में डेस्टिनेशन वेडिंग इवेंट कैंसिल हो चुके हैं। इसमें बंगलुरु, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात आदि राज्यों के समृद्ध लोगों की शादियां उदयपुर में होनी थी। इन शादियों की तैयारियों पर नई गाइडलाइन ने पानी फेर दिया है। इसका सीधा असर बैंड बजाने वालों पर भी पड़ा है। बुलबुल ने बताया कि ऐसा ही हाल पिछले साल भी हुआ था। बमुश्किल फिर से जिंदगी पटरी पर आई थी, कि नया फरमान सुना दिया गया। बुलबुल खान ने बताया कि शादी समारोह की बुकिंग 6 महीने पहले ही शुरू हो जाती है। ऐसे में काफी लोगों ने एडवांस पैसे हमें दिए थे। जिन्हें रोजमर्रा के काम और कर्मचारियों की तनखा में बांट दिए। लेकिन लॉकडाउन के बाद एडवांस लौटाना भी अब मुश्किल हो रहा है।

कोरोना की वजह से स्थगित की शादी अब नए मुहूर्त का इंतजार

उदयपुर के चांदपोल निवासी भवानी शंकर ने बताया कि उनके परिवार में शादी समारोह का आयोजन किया जाना था। लेकिन कोरोना और उसके बाद लागू हुए लॉकडाउन की वजह से समारोह को स्थगित कर दिया गया है। ऐसे में संक्रमण का खतरा खत्म होने के बाद ही अब शादी समारोह का नया मुहूर्त निकाला जाएगा। ताकि घर परिवार के साथ अपनों को शादी समारोह में बुलाकर सांसारिक सुख का आनंद ले सकें।

अब नवंबर में हो पाएगी शादी

ज्योतिषविदों के अनुसार जून में 3, 4, 5, 16,18, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 26 और 30, जुलाई में 1, 2, 7, 13 और 15 का सावा रहेगा। इसके बाद 20 जुलाई को एकादशी पर देव शयन के साथ सावे थम जाएंगे, जो देव उठनी एकादशी पर 14 नवंबर को वापस शुरू हो सकेंगे। इसके बाद नवंबर में 15, 16, 20, 21, 22, 27, 28, 29 और 30 तथा दिसंबर में 1, 2, 6, 7, 11, 12 और 13 काे सावा है।

खबरें और भी हैं...