पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

एमपीयूएटी:12 साल में तैयार की मूंगफली की नई किस्म, दावा- प्रति हैक्टेयर 10 क्विं. उपज ज्यादा देगी

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक फली में दाे की जगह 3 दाने आएंगे, अब होगा नामकरण

एमपीयूएटी के वैज्ञानिक ने अखिल भारतीय मूंगफली सुधार परियाेजना के तहत मूंगफली की नई किस्म तैयार की है। इसे तैयार करने में करीब 12 साल का समय लगा। खास बात यह है कि प्रदेश में अब तक उपयाेग हाे रही बाहर किस्म टीजी 37ए की तुलना में इस किस्म से सिंचित क्षेत्र में प्रति हैक्टेयर 10 क्विंटल ज्यादा उत्पादन हाेगा, साथ ही राेग प्रतिरोधी भी है। वैज्ञानिकाें का दावा है कि इस किस्म के किसानों तक पहुंचने के बाद उनकाे काफी फायदा मिलेगा। हालांकि एमपीयूएटी से ही पहले से एक किस्म प्रताप राज मूंगफली तैयार की जा चुकी है। इससे भी नई किस्म काफी बेहतर है। अभी इसका काेई नाम नहीं दिया है।

^यह काफी बेहतर वैरायटी है, जो उत्पादन ज्यादा देने के साथ राेग प्रतिराेधक भी है। अगला कदम ज्यादा से ज्यादा उत्पादन कर किसानाें काे जल्द बीज उपलब्ध कराने का है।
एनएस राठाैड़, कुलपति, एमपीयूएटी

ज्यादा बारिश में भी टिकेगी और ग्रीवा विगलन राेगाें से मुक्त है

इस किस्म काे तैयार करने वाले वैज्ञानिक प्रताप भान सिंह ने बताया कि अभी ज्यादातर टीजी 37ए किस्म प्रदेश के किसान उपयाेग में ले रहे हैं जाे ज्यादा बारिश में नहीं टिक पाती है। नमी और बारिश के कारण उत्पादन कम हाेता है। मूंगफली के प्रमुख राेग ग्रीवा विगलन के लिए प्रतिराेधी है। साथ ही पत्ती धब्बा और तना गलन राेग के लिए मध्यम प्रतिराेधी है।

टीजी 37ए और नई किस्म की तुलना
पैदावार : सिंचित क्षेत्र में प्रति हैक्टेयर में टीजी 37ए का 25 क्विंटल, नई किस्म का 35 क्विंटल। असिंचित में टीजी 37ए का 20 क्विंटल, नई किस्म का भी 20 क्विंटल।
साै दानाें का वजन : टीजी 37ए में 43 ग्राम और नई किस्म में 44 ग्राम।
प्राेटीन : टीजी 37ए में 27 प्रतिशत, नई किस्म में 28 प्रतिशत।
एक फली में दाना : टीजी 37ए में 2, नई किस्म में 2-3 दाने।
पकने में समय : टीजी 37ए 11 दिन, नई किस्म 100-108 दिन।

शाेध के पीछे कारण क्या
प्रताप भान सिंह का कहना है कि टीजी 37ए वैरायटी ज्यादा उपयाेग में ली जा रही है जाे वर्ष 2004 में आई थी। इसके अलावा वर्ष 2011 में प्रताप राज आई, जिसकी फली छाेटी थी। इसे किसानाें ने पसंद नहीं किया। टीजी 37ए वैरायटी ज्यादा बारिश या ज्यादा नमी से उत्पादन में कमी आ जाती है। दाना बड़ा हाे और नमी में उत्पादन दे सके, इसलिए यह नई किस्म का शाेध किया गया। साथ ही प्रदेश में झुमका फली के रूप में काेई वैरायटी नहीं है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें