कन्हैया के हत्यारे रियाज का दोस्त हैदराबाद से गिरफ्तार:तालिबानी हत्याकांड में NIA ने पहली बार राजस्थान से बाहर कार्रवाई की

उदयपुर5 महीने पहले

उदयपुर में हुए कन्हैयालाल के मर्डर मामले में NIA की जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है। राष्ट्रीय इन्वेस्टिगेशन एजेंसी तालिबानी हत्याकांड से जुड़े दरिंदों की तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है। इस सिलसिले में एजेंसी ने बुधवार को पहली बार राजस्थान के बाहर किसी दूसरे राज्य में कार्रवाई की है।

NIA ने हैदराबाद में हत्यारे रियाज के एक दोस्त के घर रेड कर उसे गिरफ्तार किया है। एजेंसी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि पकड़े गए आरोपी और रियाज पाकिस्तान के कट्‌टरपंथी संगठन के लिए काम कर रहे थे।

जानकारी के अनुसार NIA की जांच में आरोपी मोहम्मद गौस और रियाज अत्तारी का हैदराबाद कनेक्शन भी सामने आया है। बता दें कि NIA की टीम ने 29 जून को वसीम को पकड़ा था। जो आरोपी रियाज का रिश्तेदार है। उसके मोबाइल से मिले कुछ फोटो के आधार पर टीम इसको लेकर जांच कर रही है।

वहीं, NIA के जयपुर एसपी ने हैदराबाद निवासी रियाज के दोस्त मोहम्मद मुनव्वर अशरफी को पहले नोटिस दिया है और उसे 14 जुलाई को NIA के सामने पेश होने को कहा है। टीम ने उसके घर की तलाशी लेने के साथ उससे पूछताछ भी की, उसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

केंद्रीय एजेंसी लगातार हत्यारों से जुड़े लोगों से पूछताछ कर रही है। टीम राजस्थान के बाहर आरे वाले दिनों में और कार्रवाई कर सकती है।
केंद्रीय एजेंसी लगातार हत्यारों से जुड़े लोगों से पूछताछ कर रही है। टीम राजस्थान के बाहर आरे वाले दिनों में और कार्रवाई कर सकती है।

युवाओं को भड़काते थे
जांच में सामने आया कि हत्याकांड के मुख्य आरोपी रियाज और मुनव्वर के बीच अक्सर फोन पर बातचीत होती थी। व्हाट्सएप चैट में भी कई तरह की चैट मिली हैं जो कट्टरपंथ सोच को बढ़ावा देती हैं। रियाज और मुनव्वर ने देश के कई शहरों में सफर साथ में किया। वे दोनों पाकिस्तान के दावत-ए- इस्लामी संगठन के लिए सिलेक्टेड ग्रुप में युवाओं को कट्टर बनने के लिए उकसाते थे।

चार लोगों पर होना था हमला
वहीं, रियाज की जानकारी पर फरहाद शेख नाम के एक व्यक्ति को भी उदयपुर से हिरासत में लिया गया था। जानकारी के अनुसार शेख ने उदयपुर के व्यापारी को धमकाया था और मारने की जिम्मेदारी ली थी। बताया जा रहा है कि लगातार चार लोगों का इसी तरीके से मर्डर किया जाना था।

इस मामले में अब तक शहर की किशनपोल के रजा कॉलोनी निवासी मोहम्मद रियाज पुत्र जब्बार, मोहहमद गौस पुत्र रफीक, मोहसिन खान पुत्र मुजफ्फर खान, आशिक हुसैन पुत्र मोहम्मद हुसैन और मोहम्मद मोहसिन पुत्र मोहम्मद इस्माइल गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

कन्हैयालाल हत्याकांड, सिर्फ SHO के चहेते प्रमोशन के हकदार?:2 कॉन्स्टेबल ने हत्यारों का पीछा किया, अलर्ट भेजा; केवल एक को बहादुर माना

पूर्व सुरक्षा सलाहाकार बोले- कन्हैयालाल हत्याकांड ISIS टाइप किलिंग
जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सतपाल मलिक के सुरक्षा सलाहकार रहे अभिनव पंड्या बुधवार को उदयपुर में रहे। इस दौरान उन्होंने भास्कर से बातचीत में बताया कि 6 महीने पहले ही उदयपुर में आतंकियों हमले की आशंका जताई थी। उन्होंने इंटरव्यू में पर्यटन सिटी उदयपुर को आतंकियों के सॉफ्ट टारगेट होने की बात कही थी। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...