पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शहर का चौथा एसटीपी प्लांट शुरू:अब आयड़ नदी और उदयसागर में नहीं गिरेगा शहर का 85 फीसदी सीवर

उदयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 7 साल पहले शुरू हुआ था पहला एसटीपी, अब 13 माह में 3
  • अभी 70 एमएलडी गंदा पानी रोज निकलता है, अब 60 एमएलडी हो जाएगा ट्रीट

शहर ने स्वच्छता की ओर एक और मजबूत कदम बढ़ा दिया है। नए साल की शुरुआत में ही शहर का चाैथा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) पुला क्षेत्र में शुरू हाे गया। यहां राेज 5 एमएलडी गंदे पानी काे साफ किया जाएगा। इससे पहले तीन एसटीपी कलड़वास, मादड़ी और एफसीआई गोदाम के पास शुरू हो चुके हैं। इससे शहर का 85% गंदा पानी यानी 60 एमएलडी (6 कराेड़ लीटर) ट्रीट हाेकर उपयाेग में लिया जाएगा।

इसका सीधा फायदा आयड़ नदी और उदयसागर काे हाेगा तो स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 की रैंकिंग में भी हाेगा। निगम सीमा में रोज करीब 70 एमएलडी गंदा पानी निकलता है। स्मार्ट सिटी एसीईओ प्रदीप सांगावत ने बताया कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में पुला क्षेत्र मेें करजाली कॉॅम्प्लेक्स में नया एसटीपी रविवार से ट्रायल के रूप मेें शुरू हाे चुका है। स्मार्ट सिटी में हाईब्रिड एन्यूटी मॉडल में ऐसे तीन प्लांट बनाए गए हैं। तीनों की लागत 80 कराेड़ है। इसमें 40% राशि स्मार्ट सिटी व 60% हिन्दुस्तान जिंक ने वहन की है।

ट्रीटमेंट के बाद आधा पानी आयड़ नदी में छाेड़ा जाएगा, जबकि आधा जिंक उपयाेग करेगी। भविष्य में और एसटीपी लगाने की जरूरत हुई ताे कंपनी बाेर्ड में चर्चा कर निर्णय लेंगे। हालांकि अब भी गोवर्धन विलास, रेती स्टैंड, फतहपुरा और साइफन क्षेत्र में सीवरेज लाइन नहीं बिछ पाई है। पुला और बेदला के बीच तथा मादड़ी क्षेत्र में एक बड़े एसटीपी की भी और गुंजाइश है। यह हाेने पर आयड़ नदी पूरी तरह से गंदे पानी से मुक्त हाे सकती है।

दो बड़े फायदे : आयड़ का पेटा साफ दिखेगा, उदयसागर और गांवों के भूजल की गुणवत्ता सुधरेगी

  1. 2014 में पहला एसटीपी व अब तीन एसटीपी शुरू हाेने से आयड़ नदी में आ रहे गंदे पानी की मात्रा कम हाे जाएगी। इससे आयड़ का पेटा साफ नजर आएगा।
  2. 1100 एमसीएफटी की क्षमता वाले उदयसागर के जल की गुणवत्ता में भी सुधार आएगा। डाउन स्ट्रीम में आने वाले गांवों के भूजल की गुणवत्ता में भी सुधार हाेगा।
  3. और ये अप्रत्यक्ष फायदा : चार एसटीपी शुरू हाेनेे से स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 की रैंकिंग में भी उदयपुर काे फायदा हाेगा। आयड़ नदी के विकास की योजना की सार्थक हाे सकेगी।

शहर में ऐसे बिछा सीवरेज का जाल

  • अमृत योजना फेज-1 में 84 कराेड़ की लागत से 84 किमी लंबी सीवरेज लाइन डालने और पीछाेला के आसपास सात लिफ्टिंग स्टेशन बनाने का काम हाे चुका है। 11 हजार घराें के कनेक्शन करने का काम अंतिम चरण में है।
  • अमृत योजना फेज-2 में 73.77 कराेड़ की लागत से 89 किमी लंबी सीवर लाइन बिछाने का काम पूरा हाे चुका है और 5300 घराें के कनेक्शन करने का काम जारी है।
  • स्मार्ट सिटी में एडीबी पैकेज में वॉलसिटी में 85 किमी लंबाई में से करीब 40 किमी लंबी सीवरेज लाइन डाली जा चुकी है।
  • आरयूआईडीपी से आयड़ नदी पेटे मेें ट्रंक लाइन व तीन वार्डों में सीवरेज लाइन का काम जारी।

2013 तक शहर का पूरा सीवर आयड़ नदी से होते हुए उदयसागर झील में जाता था

  • 20 एमएलडी का पहला एसटीपी 2014 में शुरू हुआ
  • 25 एमएलडी का सबसे बड़ा प्लांट दिसंबर 2019 में
  • 10 एमएलडी का तीसरा प्लांट 2020 में शुरू
  • 05 एमएलडी के चौथे प्लांट का पुला क्षेत्र में 2021 में ट्रायल शुरू
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें