हम गड्‌ढे लंबी उम्र के:अब तो शहर के प्रमुख स्थानों के कई गड्‌ढे भी लैंडमार्क की तरह हो गए हैं...

उदयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
150 मीटर का टुकड़ा, 25 हजार परेशान
विश्वविद्यालय मार्ग पर बेकनी पुलिया के पास 150 मीटर सड़क को खोदकर डेढ़ साल से छोड़ रखा है। यहां से रोज 20-25 हजार वाहन चालक आते-जाते हैं। - Dainik Bhaskar
150 मीटर का टुकड़ा, 25 हजार परेशान विश्वविद्यालय मार्ग पर बेकनी पुलिया के पास 150 मीटर सड़क को खोदकर डेढ़ साल से छोड़ रखा है। यहां से रोज 20-25 हजार वाहन चालक आते-जाते हैं।
  • नगर निगम-यूआईटी-स्मार्ट सिटी हमारे संरक्षक, ये हमें जिंदा रखे हैं

आओ सारे-उदयपुर संवारें’ के तहत पाठकों की राय पर सड़कों की बदहाली को लेकर शुरू किए गए भास्कर अभियान के दूसरे दिन हैरान करने वाली स्थिति मिली। शहर के बड़े आबादी वर्ग को प्रभावित करने वाले कई लंबे-चौड़े गड्‌ढे तो ऐसे हैं, जिन्हें आकार लिए हुए 2 माह से डेढ़ साल तक हो गए है, लेकिन इन्हें पाटने की जहमत न तो नगर निगम उठा रहा है, न ही यूआईटी और स्मार्ट सिटी, जबकि इनके कारण या तो ट्रैफिक डायवर्ट है, एकतरफा है या बाधित है।

इनमें से कुछ गड्‌ढे तो खुद बने और लंबे समय से कायम हैं, जबकि कुछ स्मार्ट सिटी के कामों के तहत बनाकर छोड़ दिए गए। यह स्थिति तब है जबकि इन गड्‌ढों के आसपास का काम पहले ही पूरा हो चुका है। जिम्मेदार संस्थाएं भले ही इन्हें भूल गई हों, लेकिन शहरवासी पग-पग पर इनसे रूबरू हो रहे हैं।

सूरजपोल-गुलाबबाग मार्ग पर सड़क निर्माण के दौरान यह नाला 9 माह पहले खोदा गया था। काम अब तक अधूरा है। 30 फीट की सड़क पर पांच फीट का बॉटल नैक है। रोज कई वाहन चालक टकरा जाते हैं और कई लोग घायल हो जाते हैं। रोज यहां से औसतन 30 हजार से ज्यादा लोग गुजरते हैं।

देखिए, प्रमुख जगहों पर बने गड्‌ढे और उनकी उम्र...30 हजार से ज्यादा लोग रोज हो रहे परेशान।

खबरें और भी हैं...