पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Orders To Send Arrested Police Officer And Head Constable To Jail Taking Bribe, Will Be Behind Bars When Corona Report Comes Negative

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भ्रष्टाचार का मामला:घूस लेते गिरफ्तार थानाधिकारी और हैड कांस्टेबल काे जेल भेजने के आदेश, कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर होंगे सलाखों के पीछे

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बजरी तस्करी पर जब्त डंपर छाेड़ने के बदले ले रहे थे 37 हजार रुपए

बजरी तस्करी में दर्ज मुकदमे के तहत जब्त डंपर छोड़ने के बदले 37 हजार रुपए की घूस लेते एसीबी के हाथों ट्रैप झल्लारा थानाधिकारी रमेशचंद्र, हैड कांस्टेबल ब्रजमाेहन मीणा और दलाल जतेंद्र सुथार काे एसीबी ने बुधवार काे काेर्ट में पेश किया। काेर्ट के अादेश पर तीनाें अाराेपियाें काे जेल भेज दिया गया। एसीबी ने गाइड लाइन के मुताबिक तीनाें आराेपियाें की काेराेना जांच कराई है ।

रिपाेर्ट निगेटिव आने के बाद इन्हें जेल भेजा जाएगा। इधर, जब्त डंपर कानूनी रूप से छाेड़ने का अधिकार तय नहीं हाे पाया है। इसके लिए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में प्राेसेस जारी है। फिलहाल सीआरपीसी के तहत निचली अदालत के आदेश पर ही ऐसे वाहन छाेड़े जा रहे हैं। एसीबी के एएसपी सुधीर जाेशी ने बताया कि तीनाें आराेपियाें काे काेर्ट के पेश किया, जहां से उनकाे जेल भेजने के आदेश हुए हैं। मामले में जांच चल रही है। यह था मामला : डूंगरपुर जिले में सागवाड़ा के गढ़ा झूमजी निवासी हजारीमल पुत्र भूरालाल रेबारी ने 26 अक्टूबर काे एसीबी में शिकायत दी थी। बताया था कि 13 अक्टूबर काे झल्लारा पुलिस ने रेती से भरा डंपर जब्त किया था। इसे छाेड़ने के बदले 50 हजार रुपए की रिश्वत मांगी जा रही है। एसीबी ने दूसरे ही दिन सत्यापन किया, जिसमें थानाधिकारी और हैडकांस्टेबल द्वारा 50 हजार रुपए मांगना और आग्रह पर 45 हजार रुपए पर

राजी होने सामने आया। हैड कांस्टेबल ने एक दिन पहले 2000 रुपए लिए। ट्रैप के दिन परिवादी 35 हजार रुपए ही जुटा पया। इसमें 3000 रुपए हैड कांस्टेबल ने पहले ले लिए। बाकी 32 हजार रुपए थानाधिकारी रमेशचंद्र ने जितेन्द्र सुथार की दुकान पर देने के लिए कहा। लेन-देन के वक्त कार्रवाई की गई।

तय नहीं हाे पा रहा आखिर कहां से छूटेंगे अवैध बजरी के जब्त वाहन : माइनिंग अधिकारियाें के मुताबिक 5 फरवरी, 2020 काे नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने आदेश जारी किया था कि कैचमेंट एरिया से अवैध बजरी खनन कर ले जाते वाहन को पुलिस जब्त करेगी ताे इसे एनजीटी, दिल्ली के आदेश पर छाेड़ा जाएगा। ऐसे वाहनाें के मालिक एनजीटी पहुंचे और सीआरपीसी के तहत लाॅअर काेर्ट से छाेड़ने की बात कही। फिर एनजीटी ने 6 अक्टूबर काे नए आदेश में कहा कि जब्त वाहन छाेड़ने के लिए कलेक्टर किसी अधिकारी काे नामित करें। वही अधिकारी इसे नियमानुसार छाेड़ सकता है। इससे आगे काेई प्राेसेस नहीं हुई है। फिलहाल सीअारपीसी के तहत निचली अदालत के आदेश से ही जब्त वाहन छाेड़े जा रहे हैं।

जिले में इन रास्ताें से हाेते हुए आती है बजरी

अब तक की कार्रवाइयों में जिले में अलग-अलग रास्ताें से बजरी का अवैध परिवहन सामने अाया है। जिले में कहीं भी बजरी से संबंधित लीज जारी नहीं है। मुख्य रूप से गींगला में खरका नदी से कुराबड़ हाेते हुए सवीना, गाेवर्धन विलास और प्रतापनगर की तरफ और कुराबड़ में भी कई जगह बजरी का खनन हाे रहा है। सराड़ा में खनन के बाद जावरमाइंस हाेते हुए शहर की तरफ बजरी लाई जा रही है। कुछ बजरी नाथद्वारा (राजसमंद) से आती है। इसमें से कुछ लीज धारकों की भी हाेती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें