• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Parmar, Who Won The Congress In Vallabhnagar, Is Set To Become A Minister, Bamnia May Get A Lifeline Due To The Increase In Lasadia

मंत्रिमंडल फेरबदल पर दिखेगा उपचुनावों का असर:वल्लभनगर में कांग्रेस को जिताने वाले परमार का मंत्री बनना तय, बामनिया को भी मिलेगा फायदा

उदयपुर8 महीने पहले

उप चुनाव में प्रचंड जीत के बाद अब कांग्रेस में राजनीतिक नियुक्तियां सबसे बड़ी चर्चा है। संगठन के कई बड़े नेता दीपावली बाद नियुक्तियों की बात कह चुके हैं। इसका खाका भी तैयार कर लिया गया है। काफी कुछ उपचुनाव से पहले ही तय हो चुका था। मगर अब उपचुनाव में आए परिणामों का असर इन नियुक्तियों पर देखने को मिलेगा।

जिन विधायकों और मंत्रियों को उपचुनावों की कमान दी गई थी, उनके परफॉमेंस का असर आगामी मंत्रिमंडल फेरबदल में देखने को मिल सकता है। प्रदेश स्तर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मजबूत हुए हैं। ऐसा ही कुछ मंत्री और विधायकों के स्तर पर देखने को मिल सकता है। ये मंत्री-विधायक रहेंगे फोकस में...

भाया का कद बढ़ेगा, प्रताप सिंह बने रहेंगे
वल्लभनगर सीट पर कांग्रेस को शानदार जीत दिलाने वाले प्रमोद जैन भाया का कद बढ़ सकता है। उन्हें इस परफॉरमेंस के इनाम के रूप में बड़ा मंत्रालय मिल सकता है। फिलहाल उनके पास खनन और गोपालन मंत्रालय है। इसी तरह उदयपुर के प्रभारी मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास मंत्री बने रहेंगे। उनके मंत्रालय में कोई बदलाव होने की संभावना नहीं है।

बामनिया को लाइफलाइन या मालवीय की लॉटरी
धरियावद विधानसभा सीट पर कांग्रेस की अप्रत्याशित जीत का फायदा यहां लगे मंत्री-विधायकों को मिलेगा। खेलमंत्री अशोक चांदना ने यहां की जिम्मेदारी संभाली थी। ऐसे में उन्हें प्रमोशन मिल सकता है। वहीं, प्रतापगढ़ के प्रभारी मंत्री अर्जुन बामनिया को लसाड़िया में कांग्रेस को मिली बढ़त से लाइफलाइन मिल सकती है। बामनिया के पास फिलहाल जनजाति मंत्री का प्रभार है। फेरबदल में उनके मंत्री बने रहने पर संकट था। मगर इस परिणााम के बाद हो सकता है, उन्हें लाइफलाइन मिल जाए।

हालांकि धरियावद से कांग्रेस को जबरदस्त लीड दिलाने वाले कांग्रेस के मजबूत नेता महेंद्रजीत मालवीय भी मंत्री बनने की होड़ में हैं। दोनों बांसवाड़ा जिले से ही आते हैं। ऐसे में ये तय है कि दोनों में से कोई एक ही मंत्री बनेगा। बामनिया बने रहते हैं तो मालवीय को संगठन में बड़ा प्रभार मिल सकता है। वहीं, अगर मालवीय मंत्री बनते हैं तो बामनिया को कोई और जिम्मेदारी दी जाएगी।

उदयपुर से दयाराम परमार का मंत्री बनना तय माना जा रहा
उदयपुर से मंत्रिमंडल में दयाराम परमार की जगह तय है। दयाराम परमार को उपचुनाव में वल्लभनगर पंचायत समिति की जिम्मेदारी दी गई थी। यहां कांग्रेस ने अच्छी लीड ली। उदयपुर से मंत्रिमंडल में फिलहाल कोई नेता नहीं है। परमार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं और उन्होंने बड़े मार्जिन से जीत दर्ज की थी। ऐसे में उदयपुर से परमार काे मंत्रिमंडल में जगह मिलना तय माना जा रहा है।

उदयलाल आंजना पर संशय, विदूड़ी को मिल सकती है जगह
उपचुनाव में उदयलाल आंजना को भी जिम्मेदारी दी गई थी। उदयलाल आंजना की मंत्रिमंडल में जगह को लेकर भी संशय है। वहीं चित्तौड़गढ़ जिले से बेगूं विधायक राजेंद्र विदूड़ी भी इस दौड़ में है। विदूड़ी का दिल्ली कनेक्शन मजबूत है। ऐसे में अगर विदूड़ी मंत्रिमंडल में आते हैं तो आंजना को हाथ धोना पड़ सकता है।

खबरें और भी हैं...