पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जेल की तस्वीर:कैदी नंबर 259: जिसने हुनर से बदल डाली सेंट्रल जेल की तस्वीर, अब दीवारें बोलती हैं

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एनडीपीएस एक्ट में 2015 से सजा भुगत रहे साधुराम अब कहलाते हैं पेंटर बाबू

ताराचंद गवारिया । ये है उदयपुर सेंट्रल जेल। सजायाफ्ता 1040 में से एक है कैदी नंबर 259... नाम साधुराम। ज्यादातर समय इनके हाथ में पेंट-ब्रश रहते हैं। इनके हुनर ने जेल की तस्वीर बदल डाली है। एनडीपीएस एक्ट के मामले में 12 साल की कैद भुगत रहे साधु पांच साल की सजा काट चुके हैं। डेढ़ साल पहले व्यक्तित्व सुधार-विकास के लिए जेल प्रशासन ने उनसे दिलचस्पी पूछी थी।

जवाब मिला- पेंटिंग। जेल प्रशासन ने तस्वीर दी तो साधु ने देखते ही देखते उसे दीवार पर हूबहू उकेर दिया। यह छोटी सी परख टर्निंग प्वाइंट बन गई, साधु के लिए भी और जेल के लिए भी। अब तक वे जेल की आधी से ज्यादा दीवारों पर सैकड़ों पेंटिंग्स बना चुके हैं। कहीं दीवार फोड़कर निकलता थ्री-डी हाथी है तो कहीं मानो पौराणिक पात्र और महापुरुष जीवंत हो गए हों।

जेल प्रशासन और समाजसेवी देते हैं सामग्री-साधु ने डेढ़ साल पहले जेल को संवारना शुरू किया था। आज यहां हर दीवार नई कहानी कहती है। जेल प्रशासन तय करता है कि कहां कौनसा चित्र बनाना या संदेश लिखना है। जेलर मान सिंह कहते हैं- सोच थी कि जेल को सुधार गृह जैसा माहाैल दिया जाए ताकि अपनों से दूर कैदियों में अकेलेपन से आने वाली नकारात्मकता न रहे। उनकी प्रतिभा भी सामने आए। पेंटिंग का काम मार्च 2019 से चल रहा है। सामान समाजसेवी देते हैं।7.5 लाख रुपए का खर्च आएगा पेंटिंग पर

7.5 लाख रुपए का खर्च आएगा पेंटिंग पर 40 प्रतिशत काम पूरा हुआ जेल की दीवारों का 200 से ज्यादा पेंटिंग बन चुकी हैं 02 चरणों में हो रहा है पेंटिंग का काम

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें