राजस्थान के 8 लोगों की बिहार में मौत:लोहे के पाइप से भरे ट्रक के नीचे दबे, 5 की हालत नाजुक

उदयपुरएक महीने पहले
सुबह-सुबह हुए भीषण सड़क हादसे में 8 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई। कई अन्य की हालत नाजुक बनी हुई है। - Dainik Bhaskar
सुबह-सुबह हुए भीषण सड़क हादसे में 8 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई। कई अन्य की हालत नाजुक बनी हुई है।

बिहार के पूर्णिया जिले में हुए सड़क हादसे राजस्थान के 8 मजदूरों की मौत हो गई। सभी मजदूर उदयपुर के खेरवाड़ा क्षेत्र के रहने वाले थे। हादसा सोमवार सुबह 5 बजे जलालगढ़ के सीमाकाली मंदिर के पास हुआ, जहां NH-57 पर पाइप से लदा ट्रक पलट गया। इसमें एक दर्जन लोग थे। 8 लोगों की मौत के साथ ही 5 लोगों की हालात नाजुक बनी हुई है।

दरअसल, ट्रक पलटते ही लोहे के पानी के पाइपों के नीचे सभी मजदूर दब गए। इससे उनकी मौत हो गई। ट्रक सिलीगुड़ी से जम्मू कश्मीर जा रहा था। तेज गति में होने के दौरान ही चालक को झपकी आने से हादसा हुआ। सभी लोग ट्रक में भरे लोहे के पाइपों पर ही बैठे हुए थे।

स्थानीय लोगों ने की मदद
हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस और स्थानीय लोग राहत और बचाव के लिए पहुंचे। क्रेन की मदद से ट्रक को सीधा किया गया। शवों की शिनाख्त की कोशिश की गई। शवों को नजदीकी अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए रखवाया गया है।

सड़क पर इस कदर बिखर गए शव। लोग पाइपों के नीचे दबे मिले।
सड़क पर इस कदर बिखर गए शव। लोग पाइपों के नीचे दबे मिले।

इनकी हुई मौत
मृतकों में ईश्वर लाल, वसु लाल, काबा राम, कांति लाला, हरीश, मनी लाला, दुष्मंत, एक अज्ञात शामिल हैं। सूचना मिलते ही बिहार के जलालगढ और कसबा थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। लोगों की भीड़ को ​हटाकर पाइप के नीचे दबे शवों को बाहर निकाला गया। घटनास्थल पर सर्किल बी इंस्पेक्टर राजकिशोर शर्मा भी लगातार मृतकों के बारे में जानकारी जुटाते हुए परिजनों से संपर्क करते रहे।

सभी मृतक बोरवेल की गाड़ियों के साथ काम करने गए थे। 4 मृतक खेरवाड़ा के सरेरा, महुवाल, मालिफला गांव के रहने वाले हैं। वहीं, 4 खेरवाड़ा के पाछा, पडला गांव के रहने वाले थे।। मौके पर दूसरे 3 घायल भी इसी क्षेत्र के हैं।