मदार गांव में नवाचार:मदार में सोलर ट्री लगाया, रोज 20 यूनिट से स्कूल में नलकूप, पढ़ाई के लिए रात में लाइट-कम्प्यूटर चलाएंगे, एमपीयूएटी ने गाेद ले रखा है गांव, दावा- देश में ऐसा करने वाला पहला विश्वविद्यालय

उदयपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के गाेद लिए मदार गांव में राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के रूरल इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट फंड से 5 किलाेवाट का सोलर ट्री लगा दिया गया है।

दावा है कि एमपीयूएटी देश का पहला विवि है जिसने गांव में सोलर ट्री लगाया है। सोलर ट्री लगाने में 9.80 लाख रुपए का खर्चा आया जिसमें से नाबार्ड से 8.82 लाख रुपए और विश्वविद्यालय से 98 हजार रुपए दिए। अब इसका उपयाेग मदार स्कूल के छात्राें को स्वच्छ जल के लिए नलकूप, रात में पढ़ाई के लिए लाइट व्यवस्था और आँनलाइन पढ़ाई के लिए कम्प्यूटर से जोड़ा जाएगा।

5 किलोवाट बिजली पैदा करेगा सौर वृक्ष, 10 लाख रुपए की लागत आई

नाबार्ड के चेयरमेन डाॅ. जीआर चिंतला ने बताया कि कृषि विश्वविद्यालय गांव में सौर वृक्ष स्थापित करने वाला देश का पहला विश्वविद्यालय है। भविष्य में इसकी लागत में कमी आएगी और किसानों के बीच यह ज्यादा स्वीकार्य होगा।

कुलपति डाॅ. एनएस राठौड़ ने बताया कि 5 केवी के सौर वृक्ष से प्रतिदिन 20 यूनिट से ज्यादा बिजली का उत्पादन होगा जिसका उपयोग स्कूल के छात्राें के लिए किया जाएगा। निदेशक प्रसार शिक्षा डाॅ. एसके शर्मा ने स्मार्ट विलेज के उद्देश्यों, नवाचारों द्वारा आजीविका सुरक्षा, कौशल विकास द्वारा रोजगार पर किए गये कार्यों की विस्तृत चर्चा की। स्मार्ट विलेज समन्वयक डाॅ. इन्द्रजीत माथुर ने चयनित गांवों में सीएसआर फंड से विभिन्न संस्थाओं द्वारा किए गए कार्यों के बारे में बताया।

खबरें और भी हैं...