पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अंतिम संस्कार:सिपाही की अंत्येष्टि, बोलेरो थाने में, दो दिन बाद भी पता नहीं टक्कर किसने मारी

उदयपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कांस्टेबल नरेश - Dainik Bhaskar
कांस्टेबल नरेश
  • झुंझुनूं निवासी कांस्टेबल की सड़क हादसे में गई थी जान

ओगणा थाने की पड़ावली चाैकी क्षेत्र के झांक गांव के पास गुरुवार काे सड़क हादसे में जान गंवाने वाले इसी थाने के कांस्टेबल नरेश यादव का अंतिम संस्कार शनिवार काे झुंझुनूं में उनके पैतृक गांव में राजकीय सम्मान से हुआ। इधर, हादसे के दाे दिन बाद भी थाना पुलिस तय नहीं कर पाई है कि नरेश की बाइक काे चपेट में लेने वाली बाेलेराे काैनसी थी और इसका चालक-मालिक काैन था, जबकि पिछले 24 घंटे से बाेलेराे थाने में खड़ी है।

अब सवाल यह है कि जब सिपाही की माैत के मामले में भी विभाग की कार्रवाई सुस्त है ताे आम आदमी क्या हाेता हाेगा। बता दें कि नरेश उदयपुर काेर्ट से मुल्जिम पेश के बाद बाइक से थाने जा रहे थे। शाम काे करीब 4.30 बजे ओगणा थाने की पड़ावली चाैकी क्षेत्र के झांक गांव के पास किसी वाहन ने टक्कर मारी जाे जांच में बाेलेराे हाेने की बात सामने आई थी।

बाेलेराे ने कांस्टेबल काे बाइक के साथ करीब 50 फीट घसीटा। बाइक टायर में फंसने पर चालक ने बाेलेराे काे आगे-पीछे की और फिर फरार हाे गया। दुर्घटना में कांस्टेबल नरेश के सिर में गंभीर चाेट लगने से माैत हाे गई। शव काे एमबी हाॅस्पिटल की माेर्चरी में रखवाया था जहां पाेस्टमार्टम के बाद अधिकारियाें ने श्रद्धांजलि दी और एंबुलेंस से झुंझनूं भेजा। भास्कर के सवाल पर थानाधिकारी प्रभुलाल बोले- बाेलेराे जब्त की है, लेकिन वह संदिग्ध है। नंबर के आधार पर मालिक का पता लगाया। मालिक के साथ उसके चालक काे भी थाने बुलाया है। अभी कुछ साफ नहीं है, जांच चल रही है।

खबरें और भी हैं...