उदयपुर के एक और बिजनेसमैन का होना था मर्डर:दहशत में परिवार; घर के आगे पेड़ कटवाए, कंस्ट्रक्शन बंद करवाया

उदयपुर7 महीने पहलेलेखक: निखिल शर्मा

उदयपुर में तालिबानी हत्याकांड के आरोपी रियाज जब्बार और गौस मोहम्मद के निशाने पर अकेले कन्हैयालाल नहीं थे। नुपूर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने वाले कई अन्य लोग भी इन दोनों के टारगेट पर थे। इस सिलसिले में उदयपुर के बिजनेसमैन का नाम सामने आया है। बताया जा रहा है कि इसके अलावा भी 3 से 4 लोग निशाने पर थे।

सेक्टर-11 में रहने वाले व्यापारी नितिन जैन भी इनके टारगेट पर आ गए थे। उनके परिजनों को जब इसकी जानकारी हुई तब से सब खौफ में हैं। इतनी दहशत कि घर के आसपास के पेड़ कटवा दिए। यहां तक रेकी के डर से पड़ोस में होने वाला कंस्ट्रक्शन भी रुकवा दिया। उधर, पुलिस ने घर के बाहर सिक्योरिटी बढ़ा दी है।

जांच में सामने आया कि 35 साल के टायर व्यवसायी नितिन जैन ने 7 जून को फेसबुक पर नूपुर शर्मा से संबंधित एक पोस्ट फेसबुक पर शेयर कर दी थी। इसे लेकर नितिन के खिलाफ उसी दिन सबीना थाने में शिकायत दर्ज कराई गई। इस पर पुलिस ने उन्हें पकड़कर एसडीएम कोर्ट में पेश किया। वहां नितिन को पाबंद कर जमानत पर छोड़ दिया गया।
राजस्थान में डिजिटल इमरजेंसी:सरकार ने करोड़ों राजस्थानियों से छीन लिया इंटरनेट का मौलिक अधिकार

नितिन के परिवार वालों ने घर के बाहर से पेड़ कटवा दिए। घर के आसपास का पूरा एरिया सीसीटीवी की निगरानी में है।
नितिन के परिवार वालों ने घर के बाहर से पेड़ कटवा दिए। घर के आसपास का पूरा एरिया सीसीटीवी की निगरानी में है।

कन्हैयालाल जैसा ही पैटर्न, मामला दर्ज होने के बाद रेकी
नितिन जैन की रेकी का भी वैसा ही पैटर्न था, जैसा कन्हैयालाल का। मामला दर्ज होने के बाद कुछ लोग नितिन की रैकी करने लगे। टायर कारोबारी नितिन की दुकान पर 9 और 16 जून को तीन-तीन लोगों ने रेकी की। सबीना इलाके में स्थिति दुकान पर जाकर पूछताछ भी की गई। उस वक्त वह खुद दुकान पर नहीं था। जब यह बात उसे पता चली तो वह घबरा गया और उदयपुर से बाहर चला गया।

28 जून को जब कन्हैयालाल साहू की हत्या हुई और उसके बाद रियाज का वीडियो सामने आया। इसमें वो सेक्टर-11 के एक व्यक्ति की भी बात करता सुना जा सकता है। इसके बाद नितिन के परिवार की हालत और खराब हो गई।
LIVE उदयपुर हत्याकांड का चौथा दिन:राजस्थान में इंटरनेट पर रोक बरकरार; मर्डर के विरोध में आज सीकर बंद
परिवार वाले डर में, टीम पहुंची तो बात तक नहीं की
नितिन के परिजन इतने खौफ में हैं कि भास्कर टीम पहुंची तो उसके बड़े भाई ने डर के मारे कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। परिवार ने घर में और आसपास सीसीटीवी कैमरे भी लगवा दिए हैं। घर के आगे लगे पेड़ भी कटवा दिए। पड़ोस में चल रहे कंस्ट्रक्शन भी रुकवा दिया है। काम कर रहे मजदूरों के बारे में पता कर उनका वैरिफिकेशन कराने के लिए कहा गया है।
ऑर्डर थे- गोली मत मारना, गला रेतकर VIDEO बनाना:भारी हथियार बनाया ताकि झटके में गर्दन कट जाए, अजमेर से बनना था तीसरा वीडियो