11 साल की बेटी बनी मां:बहला-फुसलाकर रेप करने वाले रिश्तेदार का गुनाह परिवार ने छिपाया, नवजात को जन्म देने पर पता चला

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

11 साल की नाबालिग एक नवजात बच्ची की मां बन गई है। मामला उदयपुर में खेरवाड़ा क्षेत्र का है। नाबालिग से रेप करने वाले रिश्तेदार का गुनाह परिवार ने छिपाया था। जब नवजात को पीड़िता ने जन्म दिया तो यह मामला सामने आया।
पीड़ित के गर्भवती होने के बाद भी परिजनों ने इस बारे में किसी को नहीं बताया। जब पुलिस को पता चला तो परिजनों से संपर्क साधकर मामला दर्ज किया है।
सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों ने दी पुलिस को जानकारी
खेरवाड़ा गांव में 11 साल की नाबालिग को प्रसव पीड़ा होने पर 4 दिसंबर को परिवार वाले डूंगरपुर चिकित्सालय में लेकर गए। जहां पर इस किशोरी ने एक बालिका को जन्म दिया। नाबालिग के प्रसव होने पर चिकित्सालय प्रबंधन ने स्थानीय पुलिस को बताया। स्थानीय पुलिस ने पूछताछ कर खेरवाड़ा थाने में जानकारी दी।

गुजरात में मजदूरी करता है आरोपी, घर आता-जाता रहता था
मामले की सूचना पर थाने से पुलिसवाले अस्पताल पहुंचे। पूछताछ के दौरान नाबालिग के पिता ने पिंटू कागदर ऋषभदेव के खिलाफ रिपोर्ट दी। पुलिस ने बताया कि आरोपी गुजरात में रहकर मजदूरी करता है। रिश्तेदार होने के कारण नाबालिग के घर पर आना-जाना लगा रहता है। आरोपी पिंटू ने बहला-फुसलाकर दुष्कर्म किया, जिससे वह गर्भवती हो गई। एक नवजात कन्या को जन्म दिया है। किशोरी के गर्भवती होने के बाद भी परिजनों ने इस बारे में पुलिस को सूचना तक नहीं दी। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। प्रकरण की जांच डिप्टी विक्रम सिंह कर रहे है।

समझौते के एंगल से भी पुलिस कर रही जांच
पुलिस के अनुसार दो तथ्य निकलकर सामने आ रहे हैं। आरोपी द्वारा पीड़िता से दुष्कर्म हो सकता हैं। जिससे पीड़िता गर्भवती हो गई या फिर प्रेम संबंध के चलते किशोरी गर्भवती हुई हो। पुलिस इन दोनों तथ्यों के आधार पर जांच में जुटी हुई है। बालिका के परिजनों द्वारा यह मामला छुपाए रखा। इसकी मुख्य वजह आरोपी के साथ आपसी समझौता हो सकता है। भविष्य में पीड़िता की आरोपी के साथ विवाह करने की बात के आधार पर ही परिजनों ने यह जानकारी नहीं दी हो।
इनपुट-हितेश जोशी।