लूट की साजिश रचते 5 को पकड़ा:सूने मकान में छिपकर प्लान कर रहे थे बदमाश, आंख में मिर्ची डालकर बीसी पॉइंट लूटने की थी प्लानिंग

उदयपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पहले भी लूट की कई वारदातों को अंजाम दे चुके हैं आरोपी। - Dainik Bhaskar
पहले भी लूट की कई वारदातों को अंजाम दे चुके हैं आरोपी।

उदयपुर में पुलिस ने लूट की साजिश रच रहे बदमाशों को पकड़ा है। उदयपुर की ओगणा पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर वास कस्बे में सूने पड़े मकान में छुप कर डकैती की योजना बना रहे 5 बदमाशो को गिरफ्तार किया। ये आरोपी ओगणा कस्बे के वन नाका के पास स्तिथ बीसी पॉइंट को लूटने की साजिश रच रहे थे।

थानाधिकारी मुकेश चंद्र ने बताया की शुक्रवार को मुखबिर से सूचना मिली की थाना क्षेत्र के वास कस्बे में सवाई लाल मीणा के सुने पड़े मकान में कुछ लोग बैठे हुए हैं। इसपर थानाधिकारी टीम गठित कर मौके पर पहुंचे और घर के पास जाकर उनकी बातें सुनी। इसके बाद सूचना पुख्ता होने पर घेरा डाल कर मकान में दबिश दी।

आखं में मिर्ची डालकर लूटने की थी योजना

आरोपी पहले से रैकी कर रहे थे और उन्हें यह पता था कि संचालक के पास घर जाते वक्त कैश रहता हे। योजना के अनुसार संचालक के घर जाते वक्त हीरालाल व शांतिलाल हैंड पंप पर पानी पीते हुए आस पास नजर रखेंगे और मुकेश संचालक की आंखों में मिर्ची डालेगा और विजय और विरमा बंदूक दिखाकर व्यापारी को लूटकर उदयपुर रोड की तरफ भाग जाएंगे।

पिस्टल और चाकू के साथ पकड़ा

मकान के अंदर से विजय सिंह पिता श्यामसिंह निवासी करेड़ा जिला भीलवाड़ा और विरमा राम पिता दल्ला निवासी मादडी अबार खेड़ा को पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया। वही शांतिलाल पिता भंवरलाल निवासी वास खेड़ा थाना ओगणा और मुकेश उर्फ मुका पिता जवेरीलाल मीणा निवासी ओगणा को चाकू के साथ और हीरालाल पिता वेलाराम गमेती निवासी वडकीया फला को मिर्च की थैली के साथ गिरफ्तार किया।

आधा दर्जन से अधिक वारदातो में लिप्त है पांचों आरोपी

गिरफ्तार आरोपियों ने झुंझुनूं जिले के गुड़ा गोडजी निवासी अनाज व्यापारी ललित अग्रवाल की दुकान से 4 लाख रुपए लूटने,जयपुर में एक व्यक्ति से मारपीट कर 50 हजार रुपए लूटने,गुजरात के गांधी नगर से एक्टिवा चुराने,गोगुंदा मेले से मोटरसाइकिल चुराने,जालोर जिले के कैलाश नगर से मोटर साइकिल चुराने और गत दिनों ओगणा कस्बे से दुकान बंद कर अपने घर लौट रहे व्यापारी गजेंद्र कुमार जैन से लूट की वारदातो में लिप्त रहे हैं।

इनपुट : दुष्यंत पूर्बिया।

खबरें और भी हैं...