पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • The Neck Of A 5 year old Innocent Girl Was Cut After Being Hit By A Chinese Manjha, Even After 36 Stitches, The Innocent Was In A Bad Condition By Crying; The Family Demanded Strict Action

उदयपुर में चाइनीज मांझे से कटी मासूम की गर्दन:पिता के साथ बाइक पर आगे बैठी थी 5 साल की बेटी, गर्दन पर 36 टांके लगे; मां बोली- बेटी को तड़पता देख खून खौल रहा, पुलिस कार्रवाई करे

उदयपुर3 महीने पहले
उदयपुर में चाइनीस मांझे से 5 साल की बच्ची की गर्दन कट गई।

लेकसिटी उदयपुर में पतंगबाजी अब आम जनता की जान की दुश्मन बन गई है। छीपा कॉलोनी में 5 वर्षीय असना बानो की चाइनीज मांझे से गर्दन कट गई। हादसे के बाद बच्ची की गर्दन से खून का फव्वारा फूट गया। उसे राहगीरों की मदद से पिता ने एमबी अस्पताल पहुंचाया, जहां विशेषज्ञों की देखरेख में बच्ची का उपचार जारी है।

मोटरसाइकिल पर सवार होकर दादा-दादी से मिलने गई थी

उदयपुर के पारस तिराहे निवासी उमर ने बताया कि वह अपनी बेटी असना के साथ पिता के घर से लौट रहे थे। असना मोटरसाइकिल पर आगे बैठी थी। तभी छीपा कॉलोनी पानी की टंकी के नजदीक चाइनीज मांझे से उसकी गर्दन कट गई। असना की गर्दन से खून बहने लगा। वह दर्द से तड़पने लगी। जिसके बाद उसे एमबी अस्पताल में पहुंचाया गया। डॉक्टरों की टीम ने असना को तीन यूनिट ब्लड चढ़ाया। वहीं गर्दन में भी 36 टांके लगाए हैं। अब असना की हालत में पहले से सुधार है।

अस्पताल में उपचार के दौरान रोती बिलखती मासूम।
अस्पताल में उपचार के दौरान रोती बिलखती मासूम।

आरोपियों को सार्वजनिक रूप से सजा दे पुलिस

मासूम असना की हालत देख मां फिरदोश का रो-रोकर बुरा हाल है। मासूम की मां ने बताया कि शहर में बैन के बावजूद चाइनीस मांझे की बेरोकटोक बिक्री हो रही है। जिसकी वजह से मेरी मासूम बेटी की जिंदगी खतरे में आ गई है। ऐसे में पुलिस द्वारा लापरवाह लोगों के खिलाफ भी सार्वजनिक कार्रवाई की जानी चाहिए। ताकि भविष्य में लापरवाह लोग किसी की भी जान के साथ खेलने से पहले हजार बार सोचें।

मासूम की मां ने बताया कि अस्पताल में भर्ती होने के बाद भी उनकी बच्ची दर्द के मारे रो रही है। जिसे देख अब हमारा भी खून खौल रहा है। ऐसे में उदयपुर पुलिस को जल्द से जल्द चाइनीज मांझा बेचने वाले दुकानदारों के खिलाफ सख्त एक्शन लेना चाहिए। ताकि शहर में इस तरह की घटना फिर से ना हो।

15 जून को ही कटी थी एक सफाई कर्मी की टांग
इससे पहले 15 जून को भी एक व्यक्ति की मांझे से टांग कट गई थी। जो कचरा उठाने का काम कर रहा था। इसके साथ रोज पक्षियों के घायल होने के केस आ रहे हैं। वहीं, 14 जनवरी को मकर संक्रांति के दिन एक युवक की मौत हो गई थी। लक्ष्य नाम का एक युवक बाइक से जा रहा था, तभी उसके गले में मांझा फंस गया था। उसकी गर्दन बुरी तरह कट गई था। ज्यादा खून बह जाने से लक्ष्य की मौके पर ही मौत हो गई थी।