• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • The Old Man Accused Of Raping An Innocent, Sentenced To 20 Years Imprisonment, Also Ordered To Get An FD Of Rs 4 Lakh Till He Attains Majority.

उदयपुर में पोक्सों कोर्ट का बड़ा फैसला:मासूम से दुष्कर्म के आरोपी वृद्व को 20 साल कारावास की सजा, बालिग होने तक 4 लाख रूपए की एफडी करवाने के भी आदेश

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेमो फोटो - उदयपुर कोर्ट से आया फैसला। - Dainik Bhaskar
डेमो फोटो - उदयपुर कोर्ट से आया फैसला।

उदयपुर जिले के गोगुन्दा थाना क्षेत्र में एक पांच वर्ष की मासूम के साथ दुष्कर्म करने और बर्बरता करने 60 वर्ष के वृद्ध को न्यायालय ने 20 वर्ष का कठोर कारावास और 5 हजार रूपए के अर्थदण्ड से दंडित किया है। न्यायालय ने इस मामले में पीडि़ता के नाम से पीडि़त प्रतिकर स्कीम में बालिग होने तक 4 लाख रूपए की एफडी करवाने के भी आदेश दिए है।

जानकारी के अनुसार जून वर्ष 2019 में एक दम्पति अपनी 5 वर्ष की बालिका के साथ गोगुन्दा थाने पहुँचे और मामला दर्ज करवाया कि महिला अपने पति और बच्ची के साथ खेत पर काम कर रही थी। दोपहर को 5 वर्ष की बच्ची खेलते हुए गांव की ओर आ गई। इस दौरान मासूूम को वृद्व एकांत में लेकर गया और दुष्कर्म किया। गांव के लोगो ने भी पूरा गमेती को मौके पर बुलाया और उससे पूछताछ की। तो आरोपी पूरा ने इस मासूम के साथ दुष्कर्म स्वीकार ​किया था। पुलिस ने धारा 376 एबी भादस व 4,6 पोक्सो एक्ट में दर्ज किया।

इस प्रकरण का अनुसंधान डिप्टी प्रेम धणदे द्वारा किया गया और 6 दिन में अनुसंधान पूर्ण कर 26 जून को आरोपी पूरा के खिलाफ विशिष्ठ न्यायालय लैगिंग अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम तथा बालक अधिकार संरक्षण आयोग अधिनियम क्रम संख्या 1 मं चालान पेश किया। इस पर वरिष्ठ लोक अभियोजक चेतन सनाढ्य ने 19 गवाह और 22 दस्तावेज पेश किए गए। न्यायालय ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद पूरा को दोषी करार दिया।

मामला गंभीर प्रवृति का होने और बालको के साथ लैंगिक अपराध से संबंधित होने से गोवर्धनविलास थानाधिकारी बद्रीलाल राव को राज्य स्तरीय केस ऑफिसर स्कीम के तहत प्रकरण का चयन कर केस ऑफिसर नियुक्त किया गया था। न्यायालय ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपी को दोषी करार देकर आरोपी पूरा पुत्र गला निवासी नया गुड़ा को 20 साल का कारावास और 5 हजार रू जुर्माना की सजा सुनाई। इसके साथ ही इस मामले में पीडि़ता के नाम से पीडि़त प्रतिकर स्कीम में बालिग होने तक 4 लाख रूपए की एफडी करवाने के आदेश दिए है।

खबरें और भी हैं...