• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • The Plaster Fell On The Head Of The Fourth Class Student, The Parents Told Many Times About The Bad Conditions Of The School, The Responsibilities Did Not Take

स्कूल का प्लास्टर गिरने से छात्र घायल:चौथी क्लास के स्टूडेंट के सिर पर गिरा प्लास्टर, स्कूल के खराब हालातों के बारे में कई बार बता चुके पैरेंटस

उदयपुर14 दिन पहले
स्कूल के जर्जर हालातों के बारे में कई बार जिम्मेदारों को बता चुके हैं पैरेंट्स।

खेरवाड़ा के ग्राम पंचायत डेरी में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय परमारवाड़ा में स्कूल की बिल्डिंग से छत का प्लास्टर गिर गया। प्लास्टर गिरने से बच्चे के सिर में चोट आ गई। जानकारी में सामने आया कि स्कूल की कक्षा कक्षा 4 का छात्र अंकित परमार पुत्र प्रवीण परमार उस वक्त ठीक उसी जगह पर था जहां पर प्लास्टर गिरा था। प्लास्टर का हिस्सा का अंकित के सिर प्लास्टर गिरने से घायल हो गया। इस पर स्कूल के शिक्षक और आसपास के ग्रामीणों ने छात्र को तुरन्त पहाड़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाकर प्राथमिक उपचार करवाया गया।

पैरेंटस ने कहा : कई बार समस्या बता चुके

स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों के अभिभावकों का कहना है कि कई बार विभाग और नेताओं को जर्जर भवन के बारे में लिखित में अगवत करवाया गया है। मगर इसके बाद भी कोई ध्यान नहीं दिया रहा है। प्रशासन और शिक्षा विभाग को स्कूल और स्थानीय लोगों ने कई बार पत्र के माध्यम से स्कूल बिल्डिंग की जर्जर अवस्था, खेल मैदान, शौचालय, पेयजल की कमी को लेकर अगवत करवाया गया था। मगर इस पर ध्यान नहीं दिया गया है।

स्कूल का प्लास्टर पूरी तरह गिरा।
स्कूल का प्लास्टर पूरी तरह गिरा।

बता दें कि स्कूल में चार कमरों में 8 क्लास चलती हैं। जिसमें से 2 कमरे जर्जर हैं और जर्जर कमरों को कांटों की बाड़ लगाकर बन्द किया हुआ है। स्कूल में बच्चों के लिए खेल मैदान सहित अन्य कोई सुविधा भी नहीं हैं। स्कूल का कैम्पस पूरी तरह भरा-भरा सा होने से बच्चे दिनभर घुटन सा महसूस करते हैं। इसके कारण कई बार बच्चे स्कूली आंगन में बैठकर पढ़ाई करने को मजबूर हैं। स्कूल में 205 छात्र और 10 का स्टाफ है। स्कूल का पूरा क्षेत्र 1500 स्क्वायर फीट है। ऐसे में 1500 स्क्वायर फीट में कार्यालय, कर्मचारी की बैठक व्यवस्था, छात्रों की बैठक व्यवस्था को लेकर हर किसी को आश्चर्य होता है।

विभाग और नेता किसी को सुध नहीं

प्रधानाध्यापक अनिल कुमार मनात ने बताया कि सामान्य कमरे में बच्चों को बैठाया गया था। सामान्य कमरे से ही प्लास्टर गिरने से बच्चे के सिर में चोट आईं। कई बार विभाग और जनप्रतिनिधियों को लिखित में अगवत करवाया गया है। मगर स्कूल भवन की ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। छात्र के सिर पर प्लास्टर का टुकड़ा गिरने से लगा है। स्कूल प्रशासन ने छात्र को तुरन्त अस्पताल ले जाकर ईलाज करवाने को कहा है।

छात्र के सिर में गंभीर चोट आई।
छात्र के सिर में गंभीर चोट आई।

जिम्मेदारों से भी नहीं मिला कोई ठोस जवाब

इसे लेकर जिम्मेदारों से भी ठोस जवाब नहीं मिला। ग्राम शिक्षा अधिकारी महादेव व्यास ने कहा कि पूर्व में पीईईओ के माध्यम से भी भवन की जर्जर अवस्था को लेकर लिखा गया है। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचा और बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली गई। वहीं सीबीईईओ प्रकाश चंद्र जैन ने कहा कि पूरे भवन की मरम्मत के लिए समसा को लिखा गया है। बजट जारी होते ही भवन का काम करवा दिया जाएगा। घटना की जानकारी डेरी पीईईओ से मिली है।

इनपुट : हितेश जोशी।