पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

द रियल काेराेना वाॅरियर:मेरी आंखाें में छा जाते हैं उन 46 काेराेना संक्रमिताें के पाॅलिथीन पैक शव, बिलखते परिजन अंतिम दर्शन तक नहीं कर पाए

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हे भगवान! इस महामारी से आजादी दिलाओ
  • अशोक नगर गैस शवदाह गृह में कोरोना संक्रमित 46 मृतकों का अंतिम संस्कार करने वाले कोरोना वॉरियर नंदराज भारती और भंवरलाल का दर्द...उन्हीं की जुबानी

ये उदयपुर के अशोक नगर श्मशान में शवों का अंतिम संस्कार व अंतिम क्रिया से संबंधित अन्य काम करने वाले कोरोना वॉरियर 35 वर्षीय नंदराज भारती उर्फ नंदू भैया हैं। साथ में हैं उनके सहयाेगी 45 वर्षीय भंवरलाल। नंदू भैया अब तक उदयपुर सहित संभाग के 46 कोरोना संक्रमितों का गैस शवदाहगृह में अंतिम संस्कार कर चुके हैं।

नंदराज बताते हैं कि वे पिछले 25 वर्षों से अशोक नगर श्मशान में सेवाएं देते आ रहे हैं, लेकिन पहली बार कोरोना काल में कोरोना संक्रमितों के शवों की बेकद्री और परिजनों की दिल चीरती सोशल डिस्टेंसिंग ने उनके पत्थर जैसे कलेजे काे भी रुला दिया है। नंदराज बताते हैं कि श्मशान में एंबुलेंस का सायरन सुनते ही उनके शरीर में कंपकंपी सी छूटने लगती है। किसी सामान की तरह पॉलिथीन पैक शव आते हैं।

उनके पीछे-पीछे अंतिम दर्शन की आस लिए पीपीई किट में बिलखते बेटे-बेटियां, भाई-बहन, माता-पिता आदि के कारुणिक दृश्य देखे नहीं जाते। परिजन पॉलिथीन पैक शव का दूर से अंतिम बार चेहरा देखने मिन्नतें करते हैं लेकिन हमारी बेबसी देखिए, सरकार के आदेशानुसार कोरोना संक्रमित की डेडबॉडी को बिल्कुल भी नहीं खोल सकते हैं। ऐसी विडंबना पहली बार देख रहा हूं कि शवाें काे अंतिम क्रिया तक नसीब नहीं हाे रही है।

कई बार इतना हताश हो जाता हूं कि कई रात बिना सोए गुजारनी पड़ी है। मेरी 5 वर्ष की बेटी और 10 वर्ष का बेटा है, जिनको कोरोना के कारण सीने से लगाए तीन महीने हो गए। जबकि एक ही छत के नीचे अलग-अलग कमरों में रहते हैं। नंदराज के सहयोगी 45 वर्षीय भंवरलाल का कहना है कि 25 साल में पहली बार इतनी बुरी स्थिति कभी नहीं देखी है। भगवान से यही प्रार्थना है कि जल्द से जल्द इस महामारी से दुनिया काे निजात दिलाओ। - जैसा कि भास्कर रिपाेर्टर गिरीश शर्मा काे बताया

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें