पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नाैकरी जाने के डर में दे दी जान:वैक्सीन आने को है, लोको पायलट ने इसलिए जान दे दी कि कोरोना हुआ तो नौकरी जाएगी

उदयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्वरूप सागर में सुसाइड करने वाले युवक ने पिता से जताई थी आशंका

शहर में दम ताेड़ते काेराेना के बीच युवाओं में काेराेना हाेने और उससे नाैकरी जाने का डर ठीक नहीं है। शहर में नए साल में एक दिन भी 40 से ज्यादा काेराेना के मरीज नहीं मिले। शुक्रवार काे भी 23 मरीज मिले। इस बीच शुक्रवार काे गुरुवार दाेपहर स्वरूपसागर में कूदकर जान देने वाले 27 वर्षीय उत्तराखंड उधमसिंह नगर निवासी खीमसिंह खाती के परिजन एमबी हाॅस्पिटल पहुंचे।

चाचा इंदर सिंह ने बताया कि 15 अगस्त से उसका ऑनलाइन प्रशिक्षण चल रहा था और जनवरी में ही उदयपुर रेलवे ट्रेनिंग स्कूल में आया था। खीम के पिता राजेन्द्र ने कहा था कि गुरुवार दाेपहर काे खीम का फाेन आया था। कह रहा था कि दाेस्ताें ने कहा है कि काेराेना रिपाेर्ट पाॅजिटिव आई ताे नाैकरी चली जाएगी।

पिता ने समझाया भी लेकिन वह कूद गया। खीम सिंह सुखाड़िया सर्कल स्थिति रेलवे ट्रेनिंग स्कूल में असिस्टेंट लाेको पायलट की ट्रेनिंग करने आया था। हालांकि यह सामने नहीं आया कि वह दाेस्त काैन था और ऐसी बात किसी ने उससे कही भी या नहीं। परिजन एंबुलेंस से शुक्रवार शाम काे शव लेकर उत्तराखंड के लिए रवाना हाे गए। खीम काे प्रशिक्षण के दाैरान 25 हजार रुपए मिलते थे और उसने हालही में 8000 रुपए रेलवे स्कूल की मैस में जमा कराए थे।

ट्रेनिंग स्कूल में ट्रेनी को चार दिन क्वारेंटाइन रखते हैं
रेलवे ट्रेनिंग स्कूल के अधिकारियाें ने बताया कि रेलवे ट्रेनिंग स्कूल में हाॅस्टल काे क्वारेंटाइन सेंटर बना रखा है, जहां बाहर से प्रशिक्षण के लिए आने वाले काे चार दिन क्वारेंटाइन रखा जाता है। खीम काे यहां रखा गया था। काेई लक्षण सामने नहीं आने पर प्रशिक्षणार्थी को कक्षा में बैठाया जाता है, वह भी दूरी बनाते हुए।

खीम के साथ 103 प्रशिक्षणार्थी थे और एक कक्षा में 25-30 छात्राें काे बैठाया जाता है। इस दौरान उसके संपर्क में आईए युवकाें से पूछताछ की, लेकिन यह बात सामने नहीं आई कि किसी ने कहा कि काेराेना हाेने पर नाैकरी चली जाएगी। अब तक सेंटर में 30 प्रशिक्षणार्थी-कर्मचारी पाॅजिटिव आ चुके हैं। सभी ठीक होकर प्रशिक्षण ले चुके हैं। नाैकरी जाने जैसी काेई बात ही नहीं।

वहीं ऐसे मामलों में मनोचिकित्सकों का कहना है कि डर की वजह ही लोग ऐसे कदम उठा लेते हैं। जबकि इस तरह की कोई भी बात होने पर उन्हें मनोचिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए। इस तरह के किसी भी मामले की जानकारी होने पर परिजनाें और मित्राें को भी बात करनी चाहिए। बातचीत से ही समस्याओं का हल संभव हो जाता है।

यह था मामला : सुखाड़िया सर्कल स्थित रेलवे ट्रेनिंग स्कूल में असिस्टेंट लाेको पायलट का प्रशिक्षण करने आए उत्तराखंड के खीम सिंह की तबीयत खराब हाेने पर काेराेना जांच के लिए एमबी हाॅस्पिटल भेजा गया। वह हाॅस्पिटल पहुंचा और काेराेना जांच कराई। जांच कराने के बाद ऑटाे में बैठकर स्वरूपसागर पहुंचा और माेबाइल पर बात करते हुए पानी में कूद गया था। सूचना पर हाथीपाेल पुलिस पहुंची और बाहर निकला था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें