पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दूध का दूध पानी का पानी:जिन्होंने नकली नोट होने की सूचना दी, पुलिस ने उन्हें ही पकड़ लिया, अब चार माह 19 दिन बाद बेगुनाह माना

उदयपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • परिजनों की मांग पर एसपी ने दोबारा जांच कराई तो मिला न्याय

शहर में सज्जनगढ़ गेट के पास से 6 लाख रु. के नकली नाेट मामले में करीब 4 माह 19 दिन माह पहले पकड़े गए युवक सद्दाम और आमीन को पुलिस ने अपनी जांच में निर्दोष माना है। दोनों 4 माह 19 दिन से जेल में बंद हैं। अब पुलिस अपनी रिपोर्ट कोर्ट में पेश करेगी। इसके बाद इनकी रिहाई की राह तय हो पाएगी। इससे पहले हुई जांच में इन दोनों को नोट रखने का दोषी मानते हुए पुलिस ने कोर्ट में चालान भी पेश कर दिया था।

प्रदेश में संभवत: यह पहला मामला है, जब पुलिस ने कोर्ट में चालान पेश कर दिया और दोबारा हुई जांच में निर्दोष माना है। पिछले साल वल्लभनगर में मादक पदार्थ तस्करी मामले में पाली के तेजाराम की गिरफ्तारी के बाद दोबारा जांच हुई थी और वह भी निर्दाेष पाया गया था। वह तीन माह 24 दिन बाद जेल से रिहा हुआ था।

हालांकि, उस समय काेर्ट में चालान पेश नहीं हुआ था। जांच रिपोर्ट में खास बात यह भी है कि इस मामले में पहली हुई जांच में कोई लापरवाही नहीं मानी गई, क्योंकि नकली नाेट सद्दाम और आमीन से ही बरामद हुए थे और इसी आधार पर दाेनाें काे गिरफ्तार कर चालान पेश करना बताया।

मंगलवार को जांच अधिकारी डीएसपी चेतना भाटी ने अपनी रिपोर्ट एसपी डाॅ. राजीव पचार काे साैंपी। अब अगर काेर्ट आदेश देगा ताे मल्लातलाई लाल मगरी निवासी ये दोनों युवक रिहा हो जाएंगे। इन्हें 17 नवंबर 2020 को गिरफ्तार किया गया था।
पुलिसकर्मियों काे खुद फाेन किया, 2 दिन बाद स्पेशल टीम ने पकड़ लिया
पुलिस के अनुसार काेटड़ा निवासी वसीम ने सद्दाम के मामा हुसैन से चौपहिया वाहन का 2.30 लाख रु. में सौदा किया था। पैसे का लेन-देन 15 नवंबर 2020 काे सद्दाम के मल्लातलाई लाल मगरी स्थित घर हुआ। वसीम ने एक बंडल दिया, जिसमें 10 लाख रु. हाेना बताया। इनमें से 2.30 लाख रु. वाहन के बदले हुसैन से रखने को कहा, जबकि शेष राशि किसी परिचित काे देने को कहा। वसीम वाहन लेकर चला गया।

सद्दाम ने हुसैन से बंडल खाेलकर पैसे गिनने को कहा तो सब नाेट नकली थे और 10 की जगह 6 लाख ही थे। सद्दाम ने वसीम काे फाेन लगाया कि नाेट नकली हैं। वसीम कुछ देर बाद आया और घर के बाहर गाड़ी खड़ी कर भाग गया। फिर सद्दाम ने अंबामाता थाने के पुलिसकर्मी अर्जुन और अशोक काे सूचना दी। उन्होंने थाने में संपर्क करने को कहा।

इसके बाद सद्दाम और परिजन थाने पहुंचे और पुलिसकर्मी चेतन काे घटना के बारे में बताया। चेतन ने ड्यूटी ऑफिसर काे रिपोर्ट देने को कहा, लेकिन वे रिपोर्ट दिए बगैर ही घर चले गए। दाे दिन बाद 17 नवंबर काे अंबामाता पुलिस ने सद्दाम और आमीन काे गिरफ्तार कर लिया। डीएसपी भाटी ने काॅल रिकॉर्ड निकाले, वीडियो देखे और बयानों के आधार पर दाेनाें काे निर्दाेष मानकर रिपोर्ट पेश की।

असल आरोपी वसीम व अमित से कलर प्रिंटर मिला
जिला स्पेशल टीम ने सूचना के आधार पर सज्जनगढ़ स्थित जय हिंद पराठा सेंटर के संचालक सद्दाम और आमीन से 6 लाख के नकली नाेट बरामद किए थे। टीम ने दाेनाें काे अंबामाता पुलिस काे सौंप दिया, जिन्हें गिरफ्तार किया गया। उन्होंने पूछताछ में राशि काेटड़ा निवासी वसीम की बताई।

इस पर पुलिस ने काेटड़ा मस्जिद के पास निवासी वसीम अहमद अब्बासी और काेटड़ा कंडी निवासी अमित वाल्मीकि काे भी गिरफ्तार किया। इनसे कलर प्रिंटर और एक पिस्टल बरामद हुई थी। जांच तत्कालीन सूरजपोल और वर्तमान हिरण मगरी थानाधिकारी रामसुमेर ने की। इसमें सद्दाम और आमीन पर आरोप था कि 6 लाख रुपए के नकली नाेट उसी से बरामद हुए। चारों अभी सेंट्रल जेल में हैं।
परिवार के परिवाद पर जांच कराई, दाेनाें निर्दाेष : एसपी
परिवार के सदस्यों ने परिवाद दिया था। उसमें कुछ तथ्य सामने आए थे। इस पर डीएसपी चेतना भाटी काे जांच दी। जांच में तथ्यों के आधार पर दाेनाें का मामले में गलत गिरफ्तार हाेना पाया गया। अब रिपोर्ट काेर्ट के समक्ष पेश की जाएगी।
-डाॅ. राजीव पचार, एसपी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें