पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Three Pumping Stations, 60 Menhells To Be Built, Then The Last Sewer Free

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हमारी झीलें बचाओ सरकार अभियान:तीन पंपिंग स्टेशन, 60 मेनहाेल बनेंगे तब पीछोला सीवर मुक्त, 6 सदस्यीय कमेटी ने तैयार की रिपाेर्ट

उदयपुर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पीछोला से सीवर बाहर निकलवाने के लिए कलेक्टर द्वारा बनाई गई छह सदस्यीय कमेटी ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर दी है। इसमें बताया कि पीछोला को 17 साल पुरानी सीवर से मुक्त करने के लिए 11 कराेड़ रुपए की जरूरत हाेगी। उन्होंने बताया कि झील के बाहर सड़क किनारे नई सीवरेज लाइन डाली जाएगी। ब्रह्मपोल क्षेत्र में झील से कुछ दूर पंपिंग स्टेशन बनेगा।

इससे हरिदासजी की मगरी, मल्लातलाई, टीचर्स काॅलाेनी और आसपास की आबादी का गंदा पानी झील तक पहुंचने से पहले ही डाला जा सकेगा। एक पंपिग स्टेशन भट्टवाड़ी मेें भी बनेगा और इन दाेनाें पंपिंग स्टेशन से गंदा पानी लिफ्ट कर मल्लतलाई क्षेत्र मेें चरक हाॅस्टल राेड स्थित यूआईटी की सीवरेज लाइन में डाला जाएगा।

यहां से गंदा पानी ग्रेविटी से राड़ाजी चाैराहा के आगे कल्याण भवन के पास बने पंपिंग स्टेशन पहुंचेगा। यहां के पंपिंग स्टेशन की क्षमता और राड़ाजी चाैराहा से कल्याण भवन पंपिंग स्टेशन तक बिछी 600 एमएम लाइन की सीवर लाइन काे बदल कर 800 एमएम करनी हाेगी।

अंबापाेल पंप हाउस काे भी नया रूप दिया जाएगा। स्वरूप सागर-नई पुलिया राेड और हाेटल नेचुरल के आसपास सड़क किनारे बने 60 मेनहाेल ऐसे हैं जाे कि जर्जर हाे चुके हैं और रिसाव की समस्या बनी रहती है। इनकाे भी नया बनाना हाेगा।

भास्कर की मुहिम यूं रंग लाई

22 जनवरी : झील में सीवर फटा तो भास्कर ने दी सूचना
पीछाेला के पेटे में भट्टवाड़ी के पास सीवरेज लाइन फटी। दिनभर पीछाेला में जहर घुलता रहा। भास्कर ने प्रशासन को सूचना दी ताे निगम हरकत में आया। प्रदूषण नियंत्रण मंडल ने भी नमूने लिए। भास्कर ने दूसरे दिन फिर सवाल उठाए।

24 जनवरी : सवाल उठाए तो कलेक्टर मौके पर पहुंचे
भास्कर के लगातार सवाल खड़े किए जाने तो कलेक्टर चेतन देवड़ा खुद अफसरों व इंजीनियराें के साथ भट्टवाड़ी पहुंचे। हालात देखे और निर्देश दिए कि चाहे जाे हाे जाए, झील में सीवर नहीं चाहिए। पैसा कहां से आएगा यह मेरे पर छाेड़ दाे।

2200 मीटर लंबी सीवर और 40 मेनहाेल बर्बाद कर रहे हैं झील काे

  • पीछाेला झील के अंदर 2200 मीटर लंबी सीवरेज लाइन डली हुई है। इस लाइन से करीब 40 मेनहाेल जुड़े हुए हैं।
  • लीकेज हाेने से ही पीछाेला का पानी खराब हाे रहा है। झील भरी हाेेने पर पीछाेला का पानी इसी सीवर लाइन के रास्ते 24 घंटे गटर में जाने की समस्या भी रहती है।
  • झील के बाहर नई लाइन और पंपिंग स्टेशन शुरू हाेते ही झील में पड़ी लाइन और मेनहाेल काे ध्वस्त किया जाएगा।
  • लालघाट-गणगाैर घाट क्षेत्र में सीवरेज लाइन और जाे मेनहाेल निष्क्रिय हाे चुके हैं उन्हें हटाया जा सकता है। निगम अधिकारियाें काे इसके निर्देश दे दिए हैं।
  • झील के बाहर सड़क किनारे जर्जर हाे चुके करीब 60 मेनहाेल की जगह नए मेनहाेल बनाने का काम भी किया जाएगा।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें