पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रताप गाैरव केंद्र:साल दर साल बढ़ रहे पर्यटक, एनिमेशन फिल्म औैर लेजर शाे से बताएंगे प्रताप की गौरव गाथा

उदयपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रताप गाैरव केंद्र राष्ट्रीय तीर्थ को आज 4 साल पूरे

प्रताप गाैरव केंद्र राष्ट्रीय तीर्थ काे पर्यटकों के लिए खुले हुए बुधवार 4 साल पूरे होंगे। केंद्र का 18 अगस्त, 2008 काे शिलान्यास हुआ था, जबकि इसे 9 दिसंबर 2016 काे पर्यटकों के लिए खाेला गया था। चार सालाें में केंद्र में कई बदलाव आए है। अभी कई चीजाें काे निर्माण किया जा रहा है। इसमें आगामी साल में लेजर शाे से लेकर बच्चाें के एनिमेशन फिल्म देखने काे मिलेगी। यहां हर साल 1.50 लाख से ज्यादा पर्यटक केंद्र काे देखने आते है। काेराेना काल में अक्टूबर माह से पर्यटकों के लिए केंद्र खुल गया था, अब तक 10 हजार से ज्यादा पर्यटक आए हैं।

मुख्य आकर्षण महाराणा प्रताप की 57 फीट ऊंची प्रतिमा है। केंद्र में हल्दीघाटी विजय युद्ध दीर्घा, मेवाड़ रत्न दीर्घा, मेवाड़ स्फूर्ति दीर्घा, भारत दर्शन दीर्घा, भक्तिधाम, राजस्थान गौरव दीर्घा, क्रान्ति दीर्घा, महाराणा प्रताप चित्र प्रदर्शनी, मेवाड़ इतिहास पर डाक्यूमेंट्री फिल्म, भामाशाह विक्रय केन्द्र, ध्यान कक्ष, भारतमाता मंदिर आदि कक्ष है। इनमें महाराणा प्रताप की जीवन, मेवाड़ का इतिहास, देश की क्रांति, मेवाड़ के मंदिर आदि देखने काे मिलते है। निदेशक अनुराग सक्सेना ने बताया कि पर्यटकों के उत्साह को देखते हुए शीघ्र ही महाराणा प्रताप की प्रतिमा तक जाने का मार्ग खोला जाएगा।

आने वाले वर्षों में केंद्र पर होंगे ये बड़े बदलाव

आगामी कार्ययोजना में यहां लेजर शो के तहत पानी पर महाराणा प्रताप की जीवनी दिखाई जाएगी। मेवाड़ स्फूर्ति केन्द्र दीर्घा में 16 गैलेरी बनेगी, जिसमें मैकेनिकल, 3-डी गैलरी, एनिमेशन फिल्म शामिल हैं। राजसिंह संग्रहालय में म्यूजियम, कला संस्कृति दीर्घा, शस्त्रागार, लाइट एण्ड साउंड शो, प्रताप के जीवनी के प्रसंग को दर्शाती 600 मूर्तियां लगेंगी। फूड कोर्ट भी बनेगा, जहां दाल बाटी चूरमा सहित मेवाड़ के स्थानीय व्यंजन मिलेेंगा। भामाशाह मार्केट में मेवाड़ औैर राजस्थान का हैण्डीक्राफ्ट, कपड़ाें की दुकानाें का बाजार बनेगा।

खबरें और भी हैं...