टोटात्सव:राेज 17 हजार टीके लगाने वाला उदयपुर 6 हजार ही लगा रहा, स्टॉक में भी सिर्फ 12 हजार डोज बचे

उदयपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर उदयपुर सहित प्रदेशभर में सोमवार से टीका उत्सव का आगाज हो गया है, लेकिन अपर्याप्त कोरोना वैक्सीन डोज की वजह से उदयपुर में टीकों का टोटा उत्सव-सा रहा। क्योंकि उदयपुर में कोरोना महामारी तेज रफ्तार से बढ़ती जा रही है और वैक्सीनेशन की रफ्तार गिरती जा रही है।

एक ही दिन में 30 हजार टीके लगवाने वाले उदयपुर में टीके के टोटे की वजह से सोमवार को सिर्फ 6296 ही टीके लगाए गए। उदयपुर के पास मात्र 8 हजार टीके का स्टॉक बचा था। हालांकि सोमवार को उदयपुर संभाग के लिए 55 हजार डोज और भेजे गए, जिनमें से सिर्फ 10 हजार डोज उदयपुर को मिले हैं। अभी भी उदयपुर के पास मात्र 12 हजार टीके का स्टॉक बचा है। उदयपुर में 12 हजार टीके आधे दिन में ही खत्म होने लायक हैं। टीके के टोटे का ही नतीजा है कि अब उदयपुर में वैक्सीनेशन साइट 400 से घटाकर 160 पर आ गई हैं।

128 वैक्सीनेशन सेंटर्स पर लगे 6 हजार 296 टीके
सोमवार को 128 सेंटर्स पर 6 हजार 296 वैक्सीन लगी। एमपीयूएटी विश्वविद्यालय के सीटीएई परिसर में कोरोना टीकाकरण शिविर हुआ। कुलपति डॉ. नरेंद्र सिंह राठौड़ ने सभी से वैक्सीन लगवाने की अपील की। इस दौरान कुलसचिव कविता पाठक, छात्र कल्याण अधिकारी डॉ. सुधीर जैन मौजूद रहे।

शिविर में कुल 206 लोगों को टीके लगे। सेक्टर 4 स्थित चित्रगुप्त सभा भवन के शिविर में 158 लोगों का टीकाकरण हुआ। इस दौरान अध्यक्ष एलएन माथुर, उपाध्यक्ष एनपी माथुर, मुख्य सचिव राकेश माथुर, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया मौजूद रहे। तीन दिवसीय टीका महोत्सव के तहत प्रजापति सेवा समिति (सुंदरवास) के टीकाकरण शिविर में भाजपा जिलाध्यक्ष रविंद्र श्रीमाली, युवा संगठन के कमलेश प्रजापत, महामंत्री पिंटू प्रजापत मौजूद रहे। जनार्दनराय नागर राजस्थान विद्यापीठ के शिविर में टीकाकरण उत्सव के तहत 100 व्यक्तियों को टीके लगे। इस दौरान कुलपति प्रो. एसएस सारंगदेवोत, कुलप्रमुख भंवरलाल गुर्जर, रजिस्ट्रार डॉॅ. हेमशंकर दाधीच मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...