• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • UGC Has Asked All The Universities Of The Country For A Plan To Translate Study Material Into Indian Languages, It Will Be Translated Into 23 Languages

मातृ भाषा में ट्रांसलेट होगा स्टडी मैटेरियल:यूजीसी ने देश की सभी यूनिवर्सिटीज से भारतीय भाषाओं में स्टडी मैटेरियल ट्रांसलेट करने का प्लान मांगा

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन अब स्टडी मटेरियल को भारतीय भाषाओं में ट्रांसलेट करने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए यूजीसी ने देश की सभी यूनिवर्सिटी को आदेश भी जारी कर दिए हैं। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने इसके लिए यूनिवर्सिटी को प्लान तैयार करने के भी निर्देश दे दिए हैं।

इसके तहत सभी तरह का लर्निंग मटेरियल जो अबतक सिर्फ अंग्रेजी भाषा में ही उपलब्ध था। उसे हिंदी सहित तमाम भारतीय भाषाओं में ट्रांसलेट किया जाएगा। इसमें लिखित और मौखिक हर तरह का उपलब्ध लिटरेचर शामिल होगा। यूजीसी के सचिव प्रो. रजनीश जैन ने यूनिवर्सिटी के कुलपतियों को आदेश जारी कर बताया है कि 20 नवम्बर से पहले यूनिवर्सिटीज को इसका पूरा एक्शन प्लान भेज दिया जाएगा।

यूजीसी का मानना है कि इससे छात्रों और फैकल्टी में एकता और सांस्कृतिक विविधता की भावना मजबूत होगी। लगभग 22 भाषाओं में यह लिटरेचर ट्रांसलेट होगा। बता दें कि इससे पहले भी नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2020 में भी सरकार ने भारतीय भाषाओं में हाई क्वालिटी लर्निंग मटेरियल उपलब्ध करवाने पर फोकस किया था। उसी के तहत अब यूजीसी ने देशभर के सभी यूनिवर्सिटी के कुलपतियों को निर्देश दिया है कि वे इसका प्लान तैयार कर लें कि किस तरह वो संबंधित मटेरियल को ट्रांसलेट करवाएंगे।

स्थानीय भाषाओं में भी ट्रांसलेशन होगा

खास बात यह है कि यह ट्रांसलेशन स्थानीय भाषाओं में भी होंगे। ऐसे में जिन राज्यों में प्रभावी रूप से स्थानीय भाषाएं बोली जाती है, वहां उन्हीं भाषाओं में ट्रांसलेशन करवाया जाएगा। यूजीसी के आदेशों के तहत राजस्थान में भीदीपावली के बाद राजस्थान यूनिवर्सिटी जयपुर, मोहनलाल सुखाड़िया यूनिवर्सिटी उदयपुर और जयनारायण व्यास यूनिवर्सिटी जोधपुर सहित तमाम यूनिवर्सिटीज में इसके प्लान पर काम शुरू कर दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...