पंचायतों में विरोध:यूआईटी पैराफेरी की पंचायतों में विरोध के बाद थमे थे शिविर, अब आबादी भूमि देने की तैयारी

उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूआईटी पैराफेरी की 54 पंचायतों के करीब 150 से ज्यादा गांवों में पट्टों की समस्या के समाधान के लिए यूआईटी ने सर्वे करवाकर बिलानाम आबादी और बिलानाम पर बसी आबादी के आराजी का प्रस्ताव तैयार कर लिया है। इसे अब राज्य सरकार को भेजा जाएगा। पैराफेरी जिला पंचायत संघर्ष समिति ने मंगलवार को यूआईटी सचिव अरुण कुमार हसीजा से इस मामले में वार्ता की।

सचिव हसीजा ने बताया कि प्रपोजल तैयार हो गया है, जो बुधवार को सरकार को भेजा जाएगा। नोटिफिकेशन जल्द जारी होने की पूरी संभावना है। समिति संयोजक देबारी उप सरपंच चन्दन सिंह देवड़ा ने कहा कि 12 साल से पैराफेरी पंचायतों में पट्टों की समस्या है। समाधान के लिए जमीन जल्द पंचायत के नाम होनी चाहिए ताकि बरसों से इंतजार कर रहे लोगों को आशियानों के पट्टा जारी हो सकें। संघर्ष समिति जिलाध्यक्ष बड़ी सरपंच मदन पंडित ने कहा कि जब तक समाधान नहीं होता, संघर्ष जारी रहेगा।

बता दें, इस मांग को लेकर शहर से सटी इन पंचायतों के जनप्रतिनिधियों ने पिछले महीने शुरू हुए प्रशासन गांव-शहरों संग के अभियान का बहिष्कार कर दिया था। वजह यह थी कि पंचायतों को पट्‌टे जारी करने का अधिकार ही नहीं था। तब से ये अभियान ठप पड़ा है।

खबरें और भी हैं...