नशेड़ी ने भीड़ में घुसा दी कार, 4 की मौत:सड़क किनारे ट्यूबवेल की खुदाई देख रहे ग्रामीणों पर चढ़ाई बेकाबू कार, गैर-इरादतन हत्या का केस दर्ज; 4 आरोपी गिरफ्तार

उदयपुर8 महीने पहले
पुलिस ने सड़क हादसे के वक्त कार में सवार चार युवकों को किया गिरफ्तार। रात्रि के वक्त गजराज चला रहा था कार (नीली टी-शर्ट)।

उदयपुर जिले के भींडर में बीती रात हुए भीषण सड़क हादसे में चार लोगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। हादसा भींडर के बोर तलाई मोड़ पर हुआ। यहां खेत में ट्यूबवेल की खुदाई देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ जुटी थी। इसी दौरान तेज रफ्तार कार ने ग्रामीणों को अपनी चपेट में ले लिया। इसमें 4 लोगो की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, चार ग्रामीण गंभीर रूप से घायल हो गए। इनका इलाज चल रहा है। हादसे के बाद घटनास्थल से फरार कार सवार चारों आरोपियों को सोमवार दोपहर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जिन्होंने हादसे के वक्त कार में मौजूद होने की बात कबूल की है।

सड़क हादसे में चार व्यक्ति घायल हो गए जिनका उपचार जारी है।
सड़क हादसे में चार व्यक्ति घायल हो गए जिनका उपचार जारी है।

कई मीटर तक भीड़ में घुसती चली गई कार
भींडर में बीती रात मांगीलाल मेघवाल नाम के एक किसान के खेत में ट्यूबवेल खुदाई चल रही थी। इस दौरान उत्साहित ग्रामीणों की भीड़ ट्यूबवेल की खुदाई देखने पहुंच गई। रात करीब 11:15 बजे तेज रफ्तार बेकाबू कार भीड़ में घुस गई। कार की रफ्तार इतनी तेज थी कि वह कई मीटर तक भीड़ में घुसती चली गई। हादसे में 4 ग्रामीण कार के नीचे आ गए। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। मृतकों में ​​​​​​ट्यूबवेल मैनेजर पूरण अहीर, नरेंद्र सिंह राजपूत, भगवती लाल मजदूर और महेंद्र मीणा है। वहीं, चार लोग घायल हैं। इनके नाम कैलाश, शिवलाल, मांगीलाल और कालू है।

मांगीलाल मेघवाल के खेत से सटी सड़क पर हुआ था सड़क हादसा।
मांगीलाल मेघवाल के खेत से सटी सड़क पर हुआ था सड़क हादसा।

नशे में था ड्राइवर, गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज
उदयपुर पुलिस अधीक्षक डॉ राजीव ने बताया कि हादसे के वक्त कार में 4 लोग सवार थे। टक्कर मारने के बाद यह कार समेत मौके से भाग गए। बाद में कार को जब्त कर लिया गया है। शुरुआती जांच में पता चला है कि कार चला रहे युवक का नाम गजराज सिंह है। उसने शराब का सेवन कर रखा था। ऐसे में उसके खिलाफ गैर-इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। एसपी ने बताया कि कार में मौजूद चार युवकों को हिरासत में ले लिया है। इनके नाम गजराज सिंह, छोटू सिंह, हेमंत सिंह और ललित सिंह हैं।

तेज रफ्तार काली कार ने छीनी चार जिंदगी।
तेज रफ्तार काली कार ने छीनी चार जिंदगी।

शुरुआती जांच के मुताबिक, 23 वर्षीय गजराज सिंह बीती रात अपने साथियों के साथ कार से घूमने निकला था। इस दौरान गजराज और उसके साथियों ने शराब का सेवन भी किया। इसकी वजह से गजराज कार को कंट्रोल नहीं कर पाया और उसने तेज रफ्तार कार ग्रामीणों पर चढ़ा थी। गजराज सिंह जलदाय विभाग में काम करता है। पिता की जगह उसकी अनुकंपा नियुक्ति हुई है। वहीं, भींडर हादसे के बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भी सोशल मीडिया के जरिए मृतकों को श्रद्धांजलि दी। बिरला ने कहा कि यह हादसा काफी पीड़ादायक है। मैं मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।

लोकसभा अध्यक्ष ने सोशल मीडिया के जरिए जताई संवेदना।
लोकसभा अध्यक्ष ने सोशल मीडिया के जरिए जताई संवेदना।

(फोटो और कंटेंट - अभिषेक श्रीमाली)

खबरें और भी हैं...