दोहरी खुशी:भंवर सेमला और हमजा खेड़ी बांध छलका, प्रतापगढ़ में इस मानसून सीजन की रिकॉर्ड 5.6 इंच बरसात

प्रतापगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हामजाखेड़ी बांध पर चादर चली। - Dainik Bhaskar
हामजाखेड़ी बांध पर चादर चली।
  • जिले में बारिश का औसत भी 55.25% हुआ, रात 2:50 से 3:20 तक 30 मिनट में तेज बरसात ने छलकाए बांध

मौसम विभाग की शनिवार के लिए की गई चेतावनी पूरी तरह फलीभूत होती नजर आई। शुक्रवार रात 9 बजे से लेकर शनिवार रात 9 बजे तक 24 घंटे में जिले में इस मानसून की अब तक की रिकॉर्ड बारिश दर्ज की गई। प्रतापगढ़ में 24 घंटे में 5.6 इंच पानी बरस गया।

इस कारण एक ही साथ दौहरी खुशी मिली। अरनोद का सबसे बड़ा बांध हमजा खेड़ी छलका और 3 इंच की चादर चली। दूसरी तरफ पीपलखूंट क्षेत्र में भंवर सेमला बांध भी रात करीब 3:30 बजे तक लबालब भर गया।

सुबह 6 बजे इस बांध के 3 गेट खोल दिए गए जो दिन भर खुले रहे और इनमें से पानी निकलता रहा। यह पानी ऐराव नदी में उफान के रूप में दिखाई दिया। दोनों बांध रात में करीब 2:50 से लेकर 3:20 तक 30 मिनट की तेज बारिश के दौरान ही भर गए।

प्रतापगढ़ के अलावा अरनोद में 3.24 इंच, पीपलखूंट में 2.88 इंच और छोटीसादड़ी में 17 एमएम बरसात रिकॉर्ड की गई। मौसम विभाग के अनुसार को शनिवार को दिन का पारा 27.5 डिग्री से बढ़कर 29 डिग्री तथा रात्रि का पारा 23.5 डिग्री से घटकर 22.5 डिग्री दर्ज किया गया।

धरियावद क्षेत्र में सुबह 4 बजे करीब आधे घंटे तेज बरसात हुई। इसके बाद सुबह 9 बजे तक रिमझिम बरसात का दौर चला। जबकि दिन के समय बरसात नहीं होने के कारण तापमान 1.5 डिग्री बढ़ गया। दिन खिलते ही गर्मी का असर बढ़ने लगा व आमजन को उमस ने कुछ हद तक परेशान रखा।

रात की बरसात से दिनभर नदी, नाले व तालाब में पानी की खासी आवक रही। जाखम बांध 31 मीटर भराव क्षमता के चलते अब तक मात्र 18.50 मीटर ही भर पाया है। क्षेत्र में 17 एमएम बरसात दर्ज की।

भंवर सेमला बांध छलकने से ऐराव नदी ऊफान पर

अरनोद में अब तक 759 एमएम बरसात हुई

अरनोद अरनोद क्षेत्र का सबसे बड़ा हमजा खेड़ी बांध शुक्रवार रात की बारिश के चलते छलक गया। लगातार बरसात के चलते 7 मीटर भराव क्षमता वाले अरनोद क्षेत्र के सबसे बड़े बांध में लगातार पानी की आवक रही। शनिवार सुबह 6 बजे करीब यहां पर चादर चल गई। तहसील कार्यालय के अनुसार बीते 24 घंटों में 81 एमएम बरसात दर्ज की। यहां अब तक कुल 759 एमएम बरसात दर्ज की।

बिजली गिरने से दो पशु की मौके पर मौत

पीपलखूंट उपखंड पीपलखूंट के ग्राम पंचायत बोरी पी में शनिवार सुबह 7 बजे आकाशीय बिजली गिरने से दो पशुओं की मौत हो गई। ग्राम पंचायत बोरी पी सरपंच प्रेमशंकर निनामा ने बताया कि दो दिन से लगातार बारिश हाे रही है। शनिवार सुबह अचानक 7 बजे के लगभग ग्राम पंचायत बोरी पी के गांव दांता में आकाशीय बिजली गिरने से धीरजमल पुत्र मंगला की एक भैंस व लक्ष्मण पुत्र अमरा के बैल की मौत हो गई।


खबरें और भी हैं...